वरिष्ठ संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। महागनर की समस्याओं एवं उनके निस्तारण की मांग को लेकर रालोद ने नगर निगम पर जोरदार प्रदर्शन किया। रालोद नेताओं ने अपनी समस्याओं से संबंधित ज्ञापन भी नगरायुक्त को प्रेषित किया। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे निवर्तमान जिलाध्यक्ष चौधरी तेजपाल सिंह और महानगर अध्यक्ष अरुण चौधरी भुल्लन ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों का निस्तारण जल्द नहीं किया गया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा। आंदोलन का नेतृत्व करते हुए चौधरी तेजपाल सिंह और अरुण चौधरी भुल्लन ने कहा कि पिछले 25 वर्षों से गाजियाबाद नगर निगम पर भाजपा का कब्जा है। राजधानी से सटे गाजियाबाद से प्रदेश सरकार को सबसे ज्यादा राजस्व मिलता है, लेकिन यहां की उपेक्षा भी सबसे अधिक की जा रही है।
गाजियाबाद महानगर में समस्याओं का अंबार लगा है और उनके निस्तारण के लिए नगर निगम के पास कोई योजना नहीं है। नगर निगम में आने वाले शहरी क्षेत्रों के मुकाबले ग्रामीण क्षेत्रों से सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। रालोद सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अमरजीत सिंह बिड्डी ने कहा कि सदरपुर में तालाब का पानी ओवरफ्लो होकर घरों में घुस रहा है। इस समस्या का तुरंत समाधान किया जाए। लगभग एक घंटे की बारिश में पूरा शहर जलमग्न हो जाता है, लेकिन इस समस्या का कोई समाधान नगर निगम के पास नहीं है। रालोद के निवर्तमान क्षेत्रीय महासचिव सुशील तेवतिया ने कहा कि गाजियाबाद में नगर निगम के अधिकारियों की मिलीभगत से छोटी-बड़ी अवैध पार्किंग संचालित हो रही हैं, जिन्हें तुरंत बंद कराया जाए। हिंडन नदी में डाला जा रहा सीवर का पानी तुरंत बंद कराया जाए।
ग्रामीण क्षेत्रों की सफाई के लिए कर्मचारियों की संख्या में इजाफा किया जाए। प्रदर्शन के दौरान प्रदीप मुखिया, जिला पंचायत सदस्य अमित त्यागी, रेखा चौधरी, रविन्द्र चौहान, हिमांशु नागर, कमल जाटव, लोकेश कटारिया, विशाल सिरोही, ओडी त्यागी, गिरिश जयंत, लोकेश चौधरी, डंपी शर्मा, संजय सागवान, प्रदीप त्यागी, कुलदीप चौधरी, नीरज नवीपुर, सुरेश सैनी, उम्मेद पाल, अजय सैनी, अक्षय सैनी, अमर, दीपक, विशाल, सागर, अभिषेक, राहुल, सचिन, रिंकू, अजय, रवि हरित, जितेन्द्र मोनू, गजेन्द्र, सुरेन्द्र गौरव, जितेन्द्र भदौला, विनित चौधरी, विक्रांत चौधरी समेत बड़ी संख्या में रालोद नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।