दिल्ली में हुआ था वकील का मर्डर, शालीमार गार्डन पुलिस ने किया खुलासा
गाजियाबाद (युग करवट)। फरवरी माह में दिल्ली में हुई इंदिरापुरम निवासी राकेश वाष्र्णेय नामक एडवोकेट व प्रोपर्टी डीलर की हत्या का खुलासा डीसीपी ट्रांस हिंडन निमिष दशरथ पाटिल के निर्देशन और एसीपी शालीमार गार्डन सिद्घार्थ गौतम की अगुवाई में एसओ शालीमार गार्डन नरेंद्र कुमार सिंह की टीम ने कर दिया। पुलिस ने मृतक वकील राकेश वाष्र्णेय के दोस्त एवं बिजनैस पार्टनर राजू निवासी दिल्ली को गिरफ्तार कर लिया। हत्याभियुक्त ने बताया कि करोड़ों की प्रोपर्टी हड़पने के लिये उसने राकेश वाष्र्णेय की हत्या करने की साजिश दिसंबर माह में ही बना ली थी। उसने पहले तो राकेश वाष्र्णेय से लगभग तीन करोड़ की प्रॉपर्टी की पॉवर ऑफ अटार्नी करवाई और फिर उसके साथ शराब पार्टी का दौर शुरू कर दिया। फरवरी माह में पहले तो एडवोकेट राकेश वाष्र्णेय को शराब में नीला थोथा मिलाकर पिला दिया और फिर कई इंजेक्शन एनेस्थीसिया के लगाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद राकेश वाष्र्णेय के शव को गंग नहर में फेंक दिया। राकेश वाष्र्णेय के परिजनों ने पहले उसकी गुमशुदगी दिल्ली में दर्ज करवाई थी, लेकिन जब दिल्ली पुलिस ने गंभीरता नहीं दिखाई तो फिर उन्होंने शालीमार गार्डन थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज करवा दिया।
पुलिस के पास साक्ष्य के रूप में केवल वकील राकेश वाष्र्णेय की कार और उसमें मिली फाइल थी। उसके आधार पर ही एसीपी शालीमार गार्डन सिद्धार्थ गौतम की टीम ने जांच आगे बढ़ाते हुए न केवल उक्त सनसनीखेज मर्डर का खुलासा कर दिया बल्कि एडवोकेट राकेश वाष्र्णेय के कातिल राजू को भी सलाखों के पीछे भेज दिया।