युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जनपद पुलिस में तैनात भ्रष्टï एवं अपनी मर्यादा से बाहर जाकर अपराधिक प्रवृत्ति का परिचय देने वाले पुलिसकर्मियों की वजह से खाकी पर दाग लगते रहे हैं। खाकी पर दाग लगने का ताजा मामला उस समय प्रकाश में आया जब लिंक रोड थाने की एक चौकी पर तैनात मुख्य आरक्षी पर शराब की खुमारी ऐसी चढ़ी कि वह अपने कर्तव्यों को भूलकर एक झोंपड़ी में सो रही महिला की इज्जत से खिलवाड़ करने लगा। अपनी अस्मिता लुटने से बचाने के लिये महिला ने शोर मचाना शुरू किया। पत्नी की चीख-चिल्लाहट सुनकर झुग्गी के बाहर सो रहा उसका पति भी एक डंडा लेकर मौके पर पहुंच गया। उसी समय मौके पर काफी लोग जमा हो गये। फिर क्या था, महिला के पति ने झुग्गी वालों के साथ मिलकर पहले तो शराब के नशे में धुत दीवान की करतूत की वीडियो बनाई और फिर आरोपित मुख्य आरक्षी की डंडे से अच्छी-खासी खातिरदारी की। इसके बाद भीड़ ने कामांध दीवान को थाने की ओर दौड़ा दिया। पीडि़त महिला के पति का आरोप है एसएचओ लिंक रोड ने उनकी तहरीर पर दीवान के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई करने के बजाए उसका पक्ष लेते हुए ना केवल उनके द्वारा मोबाइल से बनाई गई वीडियो डिलीट कर दी बल्कि उन्हें कोई कार्रवाई ना करने की नसीहत देकर यह बोल दिया कि अब कभी भी मुख्य आरक्षी उनकी तरफ नहीं आयेगा। इस सनसनीखेज प्रकरण के संदर्भ में जब एसएचओ लिंक रोड अल्ताफ अंसारी से पूछा गया तो उन्होंने यह स्वीकार किया कि आरोपित दीवान बिजेंद्र ने रात के समय शराब पी थी और उसने पीडि़त महिला के साथ अभद्रता भी की थी।