युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। 1702 दुकानों के किराए बढ़ाने के निगम बोर्ड की बैठक में हुए फैसले को लेकर अब व्यापारी संगठन भी निगम के खिलाफ लामंबद होना शुरू हो गए है। उद्योग व्यापार मंडल की महानगर इंकाई के महामंत्री अशोक चावला का कहना है कि इस मामले में मेयर आशा शर्मा को कल व्यापारी संगठन इस संबंध में ज्ञापन देंगे। उनका कहना है कि बोर्ड की बैठक में जब से किराया नहीं बढ़ा तब से दस प्रतिशत दुकान का किराया हर वर्ष बढ़ाने और नामांत्रण का तीन लाख रुपये एक मुश्त पैसा लेने के प्रस्ताव व्यापारी हित में नहीं है। छोटी हो या बड़ी सभी दुकानों के आवंटियों पर निगम बोर्ड की और से एक जैसा व्यावहार किया गया। जो पूरी तरह से गलत है। व्यापारी बोर्ड के इस फैसले से नाराज है। उनका कहना है कि इस मामले में सभी व्यापारिक संगठनों की बैठक होने जा रही है।