वरिष्ठ संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। किराए की बढ़ोत्तरी को लेकर अब नगर निगम और व्यापारियों के बीच टकराव के आसार पैदा हो गए है। गत दिनों व्यापारी नेताओं के नगर निगम द्वारा किराया बढ़ोत्तरी वापिस नहीं लेने के मामले में दो टूक कर दिए जाने के बाद स्थिति गंभीर हो चली है। नगर निगम के खिलाफ अब सभी व्यापारिक संगठन एक हो गए है। सूत्रों का कहना है कि व्यापारियों ने एक गोपीनय बैठक की है। बैठक में निगम के खिलाफ बड़े स्तर पर आंदोलन करने का निर्णय लिया गया है। निगम बोर्ड की बैठक में ही गत दिनों 1702 दुकानों का किराया प्रति वर्ष 10 प्रतिशत के हिसाब से बढ़ाने और नामांत्रण के लिए तीन लाख रुपये शुल्क तय किया गया है। तब से ही व्यापारियों में इसको लेकर आक्रोश पैदा हो रहा है। व्यापारी चाहते है कि किराया कम किया जाए। गत दिनों इन व्यापारियों ने नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर से भी मुलाकात की थी। नगर आयुक्त का कहना था कि बोर्ड में जो प्रस्ताव पास हो गया उसमें वह अपने स्तर से संशोधन नहीं कर सकते हैं। अब व्यापारी मान गए है कि इस मामले में निगम के खिलाफ आंदोलन के अलावा कोई रास्ता उनके लिए नहीं बचा है।