युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। शहर की व्यवसायिक प्रॉपर्टी पर नगर निगम कारपेट एरिया के हिसाब से हाउस टैक्स लगाने की तैयारी में है। इसके लिए कई जगह नोटिस भी जारी कर दिए गए है। गाजियाबाद सिटी में दो तरह का टैक्स लगाने का प्रावधान है। पहला कवर्ड और दूसरा कारपेट एरिया के हिसाब से हाउस टैक्स लगाया जा सकता है। शहर की प्रॉपर्टी पर नगर निगम अभी तक कवर्ड एरिया के हिसाब से ही आवासीय और व्ययसायिक प्रॉपर्टी पर टैक्स लगाया जाता था।
दूसरी विधि कारपेट एरिया के हिसाब से हाउस टैक्स लगाने की है। कारपेट एरिया के हिसाब से टैक्स लगाने की दर अधिक है। इस तरह से इसे समझा जा सकता है कि अगर टैक्स कवर्ड एरिया के हिसाब से लगाया जाता है तो सामने वाली रोड के हिसाब से 40, 60 और 80 पैसे की दर से टैक्स लगाया जा सकता है। कारपेट एरिया के हिसाब से टैक्स लगाने का रेट एक रुपया 20 पैसे है।
हाल ही में सर्वेयर कंपनी ने कई व्यसायिक प्रॉपर्टी पर कारपेट टैक्स के हिसाब से बिल जारी कर दिए है। इससे एक दुकान पर जो टैक्स पहले केवल एक हजार रुपये बैठ रहा था वह बढक़र दोगुना हो गया है। इस मामले में निगम के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि बिल सर्वेयर कंपनी की ओर से जारी किए गए है। मगर निगम की पॉलिसी भी है कि व्यवसायिक प्रॉपर्टी पर कारपेट एरिया के हिसाब से हाउस टैक्स लगाया जाए।