नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि संसद का मानसून सत्र सार्थक चर्चा के लिए समर्पित हो क्योंकि जनता कई मुद्दों पर जवाब चाहती है और इसके लिए सरकार पूरी तरह तैयार है। संसद के मानसून सत्र के पहले दिन पत्रकारों से चर्चा में प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों से तीखे से तीखे सवाल पूछने को कहा, लेकिन साथ ही आग्रह किया कि शांत वातावरण में वह सरकार को जवाब देने का मौका भी दें। उन्होंने टीका लगाने वालों को ‘बाहुबलीÓ करार दिया और कहा कि अब तक चालीस करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है और आगे भी यह सिलसिला तेज गति से जारी रहेगा। वहीं संसद का सत्र शुरू होते ही प्रधानमंत्री नए मंत्रियों के परिचय कराना चाहते थे इसको लेकर विपक्ष ने हंगामा किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष महिलाओं और किसानों के बेटों के मंत्री बनने से इतना नाराज हैं कि वे इनका परिचय तक करने नहीं दे रहा है। वहीं राज्यसभा में भी हंगामा हुआ। फोन टैपिंग को लेकर विपक्ष सरकार को घेर रहा है।