युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। वेतन वृद्घि करनी निगम प्रशासन को है। मगर आज सुबह इसको लेकर एक अजीव वाक्या हुआ। बड़ी संख्या में लाइट विभाग में तैनात कर्मचारी नगर निगम में बीजेपी पार्षद हिमांशु मित्तल के घर पर पहुंच गए। स्ट्रीट लाइट विभाग के कर्मचारियों ने यहां पार्षद से मुलाकात की। इन कर्मचारियों का कहना था कि हमने आप का क्या बिगाड़ा है जो आप वेतन नहीं बढऩे दे रहे है। पार्षद चौक गए, उन्होंने कहा कि मैंने कहां वेतन रुकवाया है। इस पर निगकर्मियों का कहना था कि निगम बोर्ड में वेतन बढ़ाने का प्रस्ताव पास हो चुका है। इसके बाद आप कोर्ट पहुंच गए। इस लिए उनका वेतन नहीं बढ़ाया जा रहा है। इस पर पार्षद का कहना था कि वेतन वृद्घि के खिलाफ नहीं हैं। कोर्ट में केवल 15 वर्ष के लिए होर्डिंग के ठेका देने को चुनौति दी गई है। इस मामले में कोर्ट में सुनवाई चल रही है। इसके बाद कर्मचारी बैरंग लौटे।