युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गत सप्ताह दिवाली की रात सिहानीगेट थाना क्षेत्र अंतर्गत पटेलनगर कॉलोनी में हुई वृद्घ दंपत्ति अशोक जैदका व उनकी पत्नी मधु जैदका की हत्या की सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक ऑटोमोबाइल कारोबारी और मृतक दंपत्ति के घरेलू नौकर सहित चार हत्याभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी पवन कुमार ने पुलिस लाइन में आयोजित प्रैसवार्ता में यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक, वृद्घ दंपत्ति की हत्या का मास्टरमाइंड मृतक के यहां काम करने वाले घरेलू नौकर सुंदर था। इस हत्याकांड में रॉयल इनफिल्ड मोटरसाइकिल की एजेंसी का मालिक रोहित नरूला की भी भूमिका पाई गई। पुलिस के अनुसार मुख्य अभियुक्त सुंदर मृतक दम्पत्ति से भलीभांति वाकिफ था। सुंदर अशोक जैदका के व्यवहार से असंतुष्टï रहता था। उसे ऐसा लगता था कि इतने वर्षों तक काम करने पर भी वह दम्पत्ति का भरोसा नहीं जीत पाया। सुंदर की बेटियों की शादी होनी थी, जिसके लिए वह धन अर्जित करना चाहता था। इसे लेकर दम्पत्ति से विवाद हुआ था। सुंदर ने आजाद के साथ प्लानिंग की और गांव से अतुल को बुलाया। उसके बाद रोहित नरूला उर्फ गुड्डू से भी इनका संपर्क हुआ। रोहित उर्फ गुड्डू का अशोक जैदका से विवाद चल रहा था। इस तरह इस घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस ने सभी अभियुक्तों को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार करके हत्याकांड का खुलासा कर दिया। पुलिस के अनुसार घटना वाली रात साढ़े ८ बजे दोनों अभियुक्त मकान में आए थे, लेकिन बच्चों के पटाखे छोडऩे और महिला के गेट पर आ जाने के कारण वे वहां से निकल गए। बाद में मौका देखकर घटना को अंजाम दिया। एसएसपी ने बताया कि मुखबिरी और सर्विलांस की मदद से अभियुक्त सुंदर और अतुल को पुराना बस अड्डा से गिरफ्तार किया गया। उनसे की गई पूछताछ के बाद रोहित नरूला और आजाद को गिरफ्तार किया गया। एसएसपी ने बताया कि खुलासा करने वाली टीम को आईजी की ओर से ५० हजार रुपए के ईनाम की राशि दिये जाने की घोषणा की गई है। पत्रकार वार्ता में एसएपी सिटी निपुण अग्रवाल भी मौजूद थे।