युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद/आगरा। मैं प्रियंका मिश्रा लोगों के द्वारा किये जा रहे ट्रोल यानि मानसिक यातना और अपने आला अफसरों के असहयोग से दुखी होकर महिला आरक्षी के पद से न केवल इस्तीफा दे रही हूं बल्कि लोगों से यह अपील भी कर रही हूं कि वो मुझे अनावश्यक रूप से न तो मानसिक यातना दें और न ही मेरी सामाजिक प्रतिष्ठा का हनïन करें। यह बातें वीडियों क्लिप के जरिए आगरा में तैनात महिला आरक्षी प्रियंका मिश्रा ने कहीं हैं। वीडियों में सुश्री मिश्रा ने कहा कि उन्हें यह नहीं पता था कि खुशी प्राप्त करने के लिये शॉर्ट वीडियो क्लिप बनाना उनके लिये न केवल नासूर बन जायेगा बल्कि गुनाह ए अजींम भी हो जायेगा। उन्हें यह भी पता नहीं था कि जिस नौकरी को पाने के लिये उन्होंने न केवल कड़ी मेहनत की थी बल्कि पुलिस महकमे में भर्ती होकर राष्टï्र की सेवा करने का भी संकल्प लिया था। एक मामूली सी बात पर उन्हें उस पद से इस्तीफा देने को भी मजबूर होना पड़ेगा। बता दें कुछ दिन पूर्व आगरा में तैनात महिला आरक्षी प्रियंका मिश्रा ने बावर्दी रिवॉल्वर हाथ में लेकर डायलॉग बोलने की वीडियों क्लिप बनाकर सोशल मीडिया पर साझा कर दी थी। जिसके बाद महिला आरक्षी प्रियंका मिश्रा को अपने विभाग के अधिकारियों के कोप का भाजन होना पड़ा था बल्कि सोशल मीडिया पर भी उनकी काफी फजिहत हुई थी। बहराल महिला सीपी प्रियंका मिश्रा ने पुलिस प्रशासन को अपना इस्तीफा तो सौंप दिया है, लेकिन अब देखना यह है कि पुलिस प्रशासन और शासन इस्तीफा मिलने के बाद आगे क्या कार्रवाई करता है।