युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। हुनर को नई पहचान देने वाले श्रमिकों को श्रम देने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा आज पूरे प्रदेश में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत टूलकिट प्रदान कर महिलाओं को सम्मानित किया गया। इसी क्रम में गाजियाबाद में भी मिशन शक्ति को समर्पित कार्यक्रम में सौ महिलाओं को सिलाई मशीन वितरित कर सम्मानित किया गया। महात्मा गांधी सभागार में आयोजित सम्मान समारोह में जिला उद्योग प्रोत्साहन एवं उद्यमिता विकास केंद्र के संयुक्त आयुक्त उद्योग बीरेंद्र कुमार ने कहा कि विश्वकर्मा दिवस पर विभाग द्वारा संचालित किए गए विभिन्न प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षित होने पर लाभार्थियों को टूलकिट प्रदान की जाती है ताकि वह प्रशिक्षण के उपरांत अपना स्वरोजगार चला सकें। जिले में सौ महिलाओं को आज सिलाई किट प्रदान की गई है। श्रम सम्मान योजना के तहत प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया गया है। उन्होंने लाभार्थियों को कहा कि वह खुद से टूलकिट का उपयोग करें। समय-समय पर इसका सत्यापन किया जाएगा ताकि महिलाएं आर्थिक रूप से निर्भर हो सकें। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मृदा लोन योजना के तहत आवेदन दिए जाने की अपील की ताकि उनका खुद का रोजगार शुरू कराने के लिए लोन जारी किया जा सके। पूरे प्रदेश में आज २१ हजार लाभार्थियों को टूलकिट प्रदान की गई तो वहीं ११ हजार लोगों को पीएम मृदा लोन योजना के तहत लोन प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। वितरण से पूर्व लखनऊ से जारी लाइव प्रसारण को भी सभी लाभार्थियों को दिखाया गया। इस दौरान इंडस्ट्रीयल उद्योग असिस्टेंट कमिश्नर रितिका गुप्ता व लीड बैंक से नवनीत गंभीर आदि अधिकारी मौजूद रहे।