युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। प्रदेश सरकार के विशेष सचिव प्रफुल्ल कुमार की ओर से जारी पत्र में अधिवक्ताओं को अराजकतत्व कहे जाने के खिलाफ वकीलों का गुस्सा थमता नजर नहीं आ रहा है। आज बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने डीएम के माध्यम से एक ज्ञापन प्रदेश सरकार को सौंपा, जिसमें इस मामले में अधिकारी की ओर से खेद प्रकट करने और आगे ऐसी टिप्पणी नहीं करने को सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। गाजियाबाद बार एसोसिएशन के महासचिव नितिन यादव ने बताया कि बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के आहवान पर आज पूरे प्रदेश के अधिवक्ताओं ने विरोध दिवस मनाया। अधिवक्ता न्याय प्रणाली के अभिन्न और अभिभाज्य अंग है। उन को लेकर ऐसी टिप्पणी शोभा नहीं देती है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर अगर उपचारात्मक कदम नहीं उठाए गए तो समस्त जनपदों के अधिवक्ता चरणबद्घ तरीके से आंदोलन करेंगे। ज्ञापन सौंपने के दौरान बड़ी संख्या में अधिवक्ता उपस्थित थे।