नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। एक बार फिर शास्त्रीनगर स्थित विवादित शमशान घाट में दाह संस्कार को लेकर जमकर हंगामा हुआ। मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने काफी मशक्कत कर लोगों को समझाया और अन्य जगह पर दाह संस्कार के लिए मनाया। मामला तो शांत हो गया, लेकिन इस घटना के बाद से हरसांव में लोग आक्रोषित हैं। बता दें कि शास्त्रीनगर स्थित खसरा नम्बर ६५९ में पुराना शमशान घाट बना हुआ है। हालांकि, अब इस शमशान घाट के पास आबादी बस गई है जिसकी वजह से यहां दाह संस्कार बंद हैं। वहीं, नगर निगम द्वारा भी इस शमशान घाट पर स्टे लिया हुआ है। आज सुबह उस समय विवाद बढ़ गया जब हरसांव के लोग इस विवादित शमशान घाट पर एक महिला का अंतिम संस्कार करने पहुंच गए। स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया और पुलिस को बुला लिया। लोग विवादित स्थल पर ही अंतिम संस्कार करने के लिए अड़े रहे। इतना ही नहीं गुस्साए लोगों ने रोड जाम कर दिया। मौके पर पहुंची एसीएम थर्ड शाल्वी अग्रवाल ने लोगों को समझाया और कोर्ट के स्टे की कॉपी दिखाई। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में काफी गहमागहमी हुई, लेकिन काफी मशक्कत के बाद लोगों को अन्य आंवटित स्थान पर अंतिम संस्कार कराने के लिए मना लिया गया। इस दौरान लोगों ने कहा कि उनके साथ सालों से अन्याय किया जा रहा है। यह स्थान शमशान घाट के लिए आरक्षित है, बावजूद इसके यहां कोई अंतिम संस्कार नहीं होने दिया जा रहा है। एसीएम शाल्वी अग्रवाल ने बताया कि कोर्ट ने इस विवादित स्थल को लेकर स्टे दिया हुआ है, ऐसे में कोर्ट के आदेशों का उल्लघंन नहीं करने दिया जाएगा। बेवजह लोगों ने विवाद उत्पन्न किया है, जबकि स्टे के बाद से यहां दाह संस्कार बंद हैं। बावजूद इसके लोग मानने को तैयार नहीं होते। उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति में नियंत्रण में है।