युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। दो बार बैरंग लौटने के बाद नगर निगम की टीम ने आज राकेश मार्ग मार्केट के अतिक्रमण पर बुल्डोजर चलाया। दो बार पहले यहां व्यापारियों के विरोध के कारण नगर निगम की टीम बुल्डोजर नहीं चला पायी थी। आज करीब 10 बजे नगर निगम की टीम अचानक से फिर राकेश मार्ग मार्केट पहुंची। इस बार निगम की टीम पूरी तैयारी के साथ आई थी। भारी संख्या में पुलिस बंदोबस्त के साथ निगम का मार्केट के अतिक्रमण पर लगातार कई घंटे बुल्डोजर चला। पुलिस की बड़ी संख्या में तैनाती देख निगम के अतिक्रमण हटाओ अभियान का विरोध करने के लिए व्यापारी भी हिम्मत नहीं जुटा पाए।
निगम प्रशासन ने एक दिन पहले कहा था कि अब वह राकेश मार्ग मार्केट से अतिक्रमण 18 मई को हटाया जाएगा। अखबारों में यह खबर पढक़र राकेश मार्ग मार्केट के अतिक्रमण किए बैठे व्यापारियों ने राहत की सांस ली होगी। मगर उन्हें शायद यह पता नहीं था कि सुबह दस बजते ही निगम की टीम भारी पुलिस बल के साथ अतिक्रमण हटाने के लिए वहां आ धमकेगी।
मार्केट के व्यापारी जब सुबह अपना कारोबार करने के लिए मार्केट पहुंचे तब तक तो निगम की टीम ने अतिक्रमण को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया था। टीम ने सबसे पहले शनि मंदिर के पास से अतिक्रमण हटाने का अभियान शुरू किया जहां एक दिन पहले निगम की टीम को व्यापारियों ने घेर लिया था। पार्षद हिमांशु लव धरने पर बैठ गए थे।
अतिक्रमण हटाने के दौरान निगम को आशंका थी कि व्यापारी और पार्षद आज भी उनका विरोध करेंगे। मगर इस दौरान कोई भी विरोध करने नहीं आया। पार्षद हिमांशु लव का कहना था कि उन्हें नहीं पता था कि शुक्रवार को निगम का बुल्डोजर चलेगा वह सुबह ही किसी कार्य से बाहर आ गए।
कारोबारी जो कल विरोध कर रहे थे आज अतिक्रमण हटता देख शांत बैठ गए। दरअसल इस बार नगर निगम की टीम पूरी तैयारी के साथ आई थी। कई सौ की संख्या में पुलिस बल निगम की टीम के साथ थी। वहीं दूसरी और पूर्व पार्षद शील गोस्वामी का कहना है कि पक्षपातपूर्ण तरीके से निगम ने अतिक्रमण हटाया है।
उनका दावा है कि उनका पक्का निर्माण निगम की टीम ने तोड़ दिया। मगर मदन स्वीट्स के पास हुए अतिक्रमण पर टीम ने कोई खास कार्रवाई नहीं की है। इस दौरान अच्छी बात यह रही कि किसी तरह का विरोध और तनाव अभियान के दौरान नहीं रहा। अब इस मार्केट में लोगों को अब और चौड़ी सडक़ यूज करने को मिलेगी।