संसद में सुरक्षा चूक का मामला
राजनाथ सिंह बोले-घटना दुर्भाग्यपूर्ण
नई दिल्ली (युग करवट)। संसद के शीत सत्र के नौवें दिन संसद की सुरक्षा में चूक को लेकर विपक्ष ने हंगामा किया। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू होने से ठीक पहले सांसदों के साथ बैठक की। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, अनुराग ठाकुर समेत कई अन्य मंत्री और सांसद मौजूद रहे। संसद सुरक्षा में चूक की घटना पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि सांसदों में यह भाव है कि सरकार सुरक्षा को गंभीरता से नहीं ले रही है। हम इस मामले पर सरकार से जवाब चाहते हैं। हम चाहते हैं कि गृहमंत्री संसद में आए और इस मामले पर जानकारी दें। राज्यसभा में गलत बर्ताव के लिए टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन को राज्यसभा से निलंबित कर दिया गया है। दरअसल संसद की सुरक्षा में चूक के मामले पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया, इसी दौरान टीएमसी सांसद के बर्ताव के लिए सभापति ने उन्हें निलंबित कर दिया। विपक्ष के हंगामे के चलते लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक स्थगित हो गई है। राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित होने से पहले राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि संसद की सुरक्षा में चूक की उच्च स्तरीय जांच चल रही है और एफआईआर दर्ज कर जांच चल रही है। गुरुवार को संसद की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने सुरक्षा में चूक के मुद्दे पर हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन को घटना के बारे में जानकारी दी और घटना की निंदा की। राजनाथ सिंह ने सांसदों से संसदीय पास जारी करने में सावधानी बरतने की अपील की। वहीं संसद की सुरक्षा में चूक के चलते लोकसभा सचिवालय के आठ कर्मचारियों पर गाज गिरी है। दरअसल सुरक्षा में चूक के चलते इन सातों कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार लोकसभा सचिवालय के जिन कर्मचारियों को निलंबित किया गया है उनकी पहचान रामपाल, अरविंद, वीर दास, गणेश, अनिल, प्रदीप, विमित्त और नरेंद्र के रूप में हुई है।