गाजियाबाद (युग करवट)। शुक्रवार रात गाजियाबाद के भाजपा के सभी जनप्रतिनिधियों की एक बैठक हुई जिसमें गाजियाबाद पुलिस कमिश्नरेट के अधिकारियों के खिलाफ काफी गुस्सा देखा गया। पुलिस द्वारा दो विधायकों की हटाई गई सुरक्षा और अफसरों द्वारा की गई बयानबाजी पर चिंता व्यक्त की गई। एक मंत्री के भाई के आवास पर आयोजित बैठक में सभी जनप्रतिनिधियों ने यह निर्णय लिया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करके पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करेंगे और यदि मुख्यमंत्री ने कार्रवाई नहीं की तो सभी जनप्रतिनिधि अपनी सुरक्षा वापस कर देंगे।
बैठक में चिंता पुलिस कमिश्नरेट अधिकारियों को कटघरे में खड़ा करते हुए अफसरों की कार्यशैली पर सवालिया निशान भी उठाये। बैठक में कैबिनेट मंत्री सुनील शर्मा, राज्यमंत्री स्वतंत्रत प्रभार नरेंद्र कश्यप, नवनिर्वाचित सांसद/विधायक अतुल गर्ग, मुरादनगर विधायक अजित पाल त्यागी, धौलाना विधायक धर्मेश तोमर और लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर उपस्थित रहें। विधायकों की हटाई गई सुरक्षा को लेकर अधिकारियों द्वारा अनुशासनहीनता की सीमा पार करके दिए गए मिथ्या बयान पर बैठक में यह तय हुआ कि इस विषय पर मुख्यमंत्री से भेंट की जाएगी और मजबूती से उनके सामने अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जाएगी। मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए कैबिनेट मंत्री सुनील शर्मा एवं राज्य मंत्री नरेंद्र कश्यप को अधिकृत किया गया।

इस बैठक में निर्णय लिया गया कि मुख्यमंत्री से मिलकर जनपद में बढ़ते हुए अपराध और बेलगाम कानून व्यवस्था, पुलिस अधिकारियों द्वारा जनप्रतिनिधियों से किये जा रहे दुव्र्यवहार के मामले में कठोर कार्यवाही की मांग की जाएगी। वहीं बैठक में यह भी तय हुआ कि कार्यवाही में विलंब हुआ तो जनपद के सभी जनप्रतिनिधियों द्वारा दोनों विधायक के समर्थन में अपनी सुरक्षा लौटा देंगे।