युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा शीर्ष नेतृत्व कितना गंभीर है, यह इस बात से पता चलता है कि केंद्रीय नेतृत्व की ओर से प्रत्येक सीट की रिपोर्ट लेने से पहले हर एक सांसद से उनके क्षेत्र के विधायकों की रिपोर्ट कार्ड मांगी गई है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नडडा आज से उत्तर प्रदेश के सभी सांसदों से मिलकर उनके क्षेत्र में पार्टी की स्थिति और वहां के विधायकों को लेकर चर्चा करेंगे। इसके लिए प्रदेश को छह जोनों में बांटा गया है। आज यानि पहले दिन ब्रज, पश्चिमी यूपी और कानपुर क्षेत्र के सांसदों को बुलाया गया है। इस मीटिंग में लोकसभा और राज्यसभा, दोनों ही सदनों के एमपी शामिल होंगे।
यह बैठक आज और कल होगी। इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और महामंत्री (संगठन) सुनील बसंल भी शामिल होंगे। सांसदों के साथ बैठक कर भाजपा अध्यक्ष नड्डा उनके क्षेत्रों के विधायकों का फीडबैक लेंगे। कोरोना सकंट के दौरान कौन सा विधायक कितना एक्टिव रहा है। किस-किस ने अपने बयानों से सरकार की किरकिरी करवाई है। इसके अलावा पंचायत चुनाव में किसने पार्टी विरोधी गतिविधियां की हैं। उनकी भी जानकारी ली जाएगी। क्षेत्र में काम की लोकप्रियता कैसी है। और उनका विरोध है या नहीं, इस पर सभी सांसदों की राय लेंगे। सांसदों की राय को काफी महत्व दिया जाएगा।