गाजियाबाद। विजलेंस जांच में फंसे निगम के हेल्थ अफसर डॉ0 मिथलेश कुमार सहित तीन निगमकर्मियों को बचाने की कोशिश शुरू हो गई। मेयर आशा शर्मा ने नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर को एक पत्र लिखा है। पत्र में मेयर ने बताया कि जिन क्लॉज सर्किट कैमरे के भुगतान नहीं होने के विवाद की विजलेंस टीम ने जांच की और स्वास्थ्य नगर प्रभारी डॉ0 मिथलेश सहित तीन निगकर्मियों को आरोपी बनाया उसकी दुबारा से जांच हो। मेयर ने पत्र में बताया कि उनके पास कई पार्षदों और निगम के सफाई नायकों के पत्र भेजे है। जिसमें कहा गया कि स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए कूड़े के डलाव प्वाइंट पर सीसीटीवी कैमरे ही नहीं लगाए गए थे। उन्होंने नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर को निर्देश दिया कि वह इस प्रकरण में विजलेंस या शासन को पत्र लिखे। इस पूरे प्रकरण की विजलेंस दुबारा से जांच करने का निवेदन करें।