भारद्वाज के अनुभव और विजय चौधरी की रणनीति के दम पर
गाजियाबाद (युग करवट)। पर्चा भरने के साथ ही गठबंधन प्रत्याशी डॉली शर्मा ने अपने चुनाव अभियान की शंखनाद कर दी है। चुनाव अभियान किस दिशा में चलेगा इसकी एक झलक उनके नामांकन दाखिल करते वक्त नजर आ गई। नामांकन से पूर्व कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी के नेताओं को एकजुट कर डॉली शर्मा के रणनीतिकारों ने अपनी क्षमता की झलक सबको दिखला दी। नामांकन डॉली के पिता कांग्रेस के पूर्व महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र भारद्वाज एवं पूर्व मेयर प्रत्याशी विजय चौधरी कंधे से कंधा मिलाकर नजर आए। दोनों नेताओं ने जनपद में ब्राह्मण और जाट बिरादरी में डॉली को लेकर साफ संदेश देने का प्रयास किया। साथ ही कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रभारी प्रदीप नरवाल भी डॉली के नामांकन में गाजियाबाद पहुंचे।
दरअसल, डॉली शर्मा के चुनाव अभियान की कमान उनके पिता पूर्व महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र भारद्वाज और पूर्व मेयर प्रत्याशी के हाथों में रहेगी। दोनों ही नेता अपने कार्य में दक्ष हैं। नरेन्द्र भारद्वाज को संगठन चलाने का पुराना अनुभव है। सन् 2017 में उन्होंने ही अपनी पुत्री डॉली शर्मा को नगर निगम चुनाव से राजनीति में प्रवेश कराया। नरेन्द्र भारद्वाज के अनुभव के आधार पर डॉली शर्मा ने मेयर पद पर ताल ठोकी। चुनाव की बिसात कुछ इस तरह बिछाई गई कि भाजपा के गढ़ गाजियाबाद में डॉली शर्मा दूसरे नंबर पर रहीं और उन्हें 1, 19, 000 से अधिक वोट मिले। उधर, चुनाव में कांग्रेस के 16 पार्षद जीते और उसका सेहरा नरेन्द्र भारद्वाज के सिर बंधा। उधर, डॉली शर्मा के चुनाव अभियान की रणनीति बनाने की जिम्मेदारी पूर्व मेयर प्रत्याशी विजय चौधरी के कंधों पर है। विजय चौधरी को चुनाव चुनाव लडऩे में महारथ रखते हैं। सन् 2012 के नगर निगम चुनाव में वे महापौर पद पर चुनाव लड़ चुके हैं। अपनी रणनीति के दम पर ही उन्होंने 65 हजार वोट चुनाव में हासिल किए थे। हालांकि, इस चुनाव में मतणना को लेकर खासी फजीहत भी हुई थी। चुनाव के दौरान हर जाति और हर बिरादरी का वोट विजय चौधरी के पक्ष में गया था। यह उनकी कुशल रणनीति का हिस्सा माना जाता है। उधर, कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव लोकसभा चुनाव के नामांकन में आकर दलित समुदाय को भी डॉली के पक्ष में आने का संदेश दे गए हैं।
कुल मिलाकर नरेन्द्र भारद्वाज के अनुभव और विजय चौधरी की कुशल रणनीति के दम पर डॉली शर्मा का चुनाव अभयान आगे बढ़ रहा है। दोनों ही नेता कुशलता के साथ अभियान को गति दे रहे हैं। ऐसे में सभी उम्मीद जता रहे हैं कि आने वाले समय में चुनाव अभियान तेज गति से आगे बढ़ेगा।
अंबेडकर रोड पर खुलेगा मुख्य चुनाव कार्यालय, अजय राय करेंगे शुभारंभ
गाजियाबाद (युग करवट)। गठबंधन प्रत्याशी डॉली शर्मा के चुनाव को गति देने के लिए चुनाव कार्यालय अंबेडकर रोड़ पर शिप्रा होटल से आगे चौधरी मोड़ की तरफ खोला जाएगा। डॉली शर्मा के पिता एवं पूर्व महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि कार्यालय का शुभारंभ कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष अजय राय भी पहुंच सकते हैं। उन्हें कार्यालय के उद्घाटन में आने का न्यौता दिया गया है।नरेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि कार्यालय बनाने के लिए काम शुरू कर दिया गया है। दर्जनों लोग कार्यालय के निर्माण कार्य में जुटे हुए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि 3 या 4 अप्रैल को कार्यालय का निर्माण कार्य संपन्न हो जाएगा। उन्होंने बताया कि आज शाम तक तय कर लिया जाएगा कि उद्घाटन कब किया जाना है। कार्यालय का उद्घाटन हिंदू रिती रिवाज से हवन पूजन के साथ संपन्न करारया जाएगा। उद्घाटन में गठ बंधन दलों के सभी नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा।