युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। इसे कलयुग की पराकष्ठा कहें या फिर कहें खूनी रिश्तों के बंधन में होती टूटन, बहराल इसके पीछे की असलियत चाहे कुछ भी हो लेकिन हाल ही में जनपद में कुछ ऐसे प्रकरण उजागर हुए जिन्होंने न केवल मानवता को शर्मशार किया बल्कि मां-बेटे, मां-बेटी, बहन-भाई और भाई-भाई जैसे अटूट व एवं भावनामय रिश्तों को भी कलंकित कर दिया। खूनी रिश्तों को कलंकित कर देने वाला एक ऐसा ही शर्मनाक एवं दिल को झजोंडऩे वाला प्रकरण उस समय उजागर हुआ जब लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र की लक्ष्मी गॉर्डन कॉलोनी में रहने वाली ७५ वर्षीय वृद्घा मां कृष्णा देवी को उसके पुत्र संजीव ने प्रताडि़त करके मकान में कैद कर दिया। सोशल मीडिया पर उक्त घटना का वीडियों वायरल होने के बाद जहां क्षेत्र में सनसनी फैल गई वहीं पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। उसके बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस संदर्भ में एसएचओ लोनी बॉर्डर राजेंद्र सिंह त्यागी ने बताया कि प्राथमिक जांच में जो बात सामने आई है उससे पता चला है कुछ समय पूर्व वृद्घा के छोटे पुत्र बलवंत राय उर्फ हरबंस लाल की मौत हो गई थी, जिसके बाद वह न केवल सदमाग्रस्त हो गई थी बल्कि मानसिक संतुलन भी खो बैठी थी इस वजह से वह कभी भी घर से बाहर निकल जाती। इसके चलते ही उनके बड़े पुत्र संजीव ने उन्हें मकान में बंद कर दिया। श्री त्यागी ने बताया कि तहरीर मिलने अथवा जांच के दौरान दोषी पाये जाने पर संजीव के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जायेगी। बता दें कि इससे पहले भी कई ऐसी सनसनीखेज एवं मानवता को तारतार करने वाले प्रकरण उजागर हो चुके हैं।