युग करवट संवाददाता
नोएडा। नोएडा शहर की वायु गुणवत्ता को दूषित होने से रोकने के लिए ग्रिड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) के प्रावधानों के तहत नोएडा में रोजाना मुख्य मार्गों पर पानी का छिडक़ाव कराया जा रहा है। इसके अलावा वायु प्रदूषण संबंधी नियमों का उल्लंघन करने पर संबंधित लोगों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जा रही है।
नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमती रितु माहेश्वरी के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा नोएडा के समस्त क्षेत्र में मुख्य मार्ग पर 44 टैंकरों के माध्यम से लगभग 58.990 किलो मीटर लम्बाई में पानी का छिडक़ाव किया गया। एनजीटी के निर्देशों के अनुपालन में निर्माण सामग्री को खुले रखने एवं निर्माण कार्यों में वायु प्रदूषण संबंधित नियमों का उल्लंघन करने पर वर्क सर्किल-3, 5, 6, 7, 9 एवं 10 द्वारा निर्माण कार्य में नियम की अवहेलना करने पर 16 प्रकरणों में 3,20,00 रुपये का अर्थदण्ड अधिरोपित किया गया। इसके अलावा नोएडा में विभिन्न स्थानों पर कुल 397.77 टन सीएण्डडी मलवे का उठान एवं इसे निस्तारण हेतु सेक्टर-80 स्थित सीएण्डडी प्रोसेसिंग प्लांट पर पहुंचाया गया।
उन्होंने बताया कि जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा 67 मार्गों पर लगभग 243 किलोमीटर लंबाई में मेकेनिकल स्वीपिंग मशीन के माध्यम से सडक़ों की साफ-सफाई कराई गई। इसके अलावा 70 किलोमीटर लंबाई में सडक़ों पर रात्रि में धुलाई कराई गई। सडक़ों पर छिडक़ाव धुलाई के लिए एसटीपी के शोधित जल का उपयोग द्वारा किया जा रहा है।