ताऊ ने २० लाख रुपये देेने से किया मना तो मार दी गोली
गोली की आवाज़ सुनकर जागे दोनों तहेरे भाईयों का भी कर दिया ढेर
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कल रात लोनी थाना क्षेत्र के टोली मौहल्ला निवासी कपड़ा कारोबारी रहीसुदï्दीन व उनके दो पुत्रों अजहरूदï्दीन उर्फ अजहर उर्फ अज्जू व इमरान की गोली मारकर हत्या कर दी गई और उनकी पत्नी फातिमा को भी गोली मारकर मौत के मुंहाने पर पहुंचा दिया। उक्त सनसनीखेज वारदात के बाद मृतक कपड़ा कारोबारी के परिजनों ने रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए २५ लाख कैश और एक किलो से अधिक सोने चांदी के जेवरात सहित लगभग पचास लाख की लूट की बात पुलिस को बताई थी। साथ ही ट्रिपल मर्डर का कारण बदमाशों द्वारा की जा रही लूट का विरोध करना बताया था। उक्त सनसनीखेज वारदात के बाद आईजी राजीव सब्बरवाल व डीआईजी/एसएसपी अमित पाठक के अलावा एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा ने भी डॉग स्क्वॉड व फोरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल का सुक्ष्म परिक्षण करवाया था। गहन जांच और सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगालने और रहीसुदï्दीन की गर्भवती पुत्रवधु के बयान के आधार पर पुलिस के हाथ ऐसे महत्पूर्ण सुराग लगे हैं जिकनी बिन्हा पर इस वारदात का खुलासा करने में पुलिस को देर नहीं लगी। खुलासे में लगी पुलिस यह देखकर चौंक गई कि कपड़ा कारोबारी और उसके दो पुत्रों को मौत की नींद सुलाने और उनकी पत्नी को मौत के मुंहाने पर पहुंचाने के पीछे और कोई नहीं, उनका भतीजा अय्यूब है। इसके बाद पुलिस ने अय्यूब को गिरफ्तार करके ट्रिपल मर्डर में प्रयुक्त की गई पिस्टल भी बरामद कर ली। खुलासे से पूर्व डीआईजी अमित पाठक ने बताया कि लूट की बात बिल्कुल बेबुनियाद है। इन तीनों मर्डर और वृद्घा की हत्या के प्रयास के पीछे पैसों के लालच सहित कई कारण रहे।

स्क्रैप कारोबार करने के लिये ताऊ से मांगे थे २०-२५ लाख
कपड़ा कारोबारी रहीसुदï्दीन व उनके दो पुत्रों की हत्या नहीं होती अगर रहीसुदï्दीन अपने भतीजे अय्यूब को स्क्रैप के कारेाबार के लिये बीस-पच्चीस लाख की रकम दे देते। डीआईजी ने बताया कि पूछताछ के दौरान अय्यूब ने बताया कि वह कबाड़ का कारोबार करना चाहता था। कारोबार शुरू करने के लिये उसे पैसों की आवश्यकता थी। उसे पता था कि ताऊ के पास कहीं से मोटी रकम आई है। इसके बाद उसने ताऊ से २०-२५ लाख रुपये की मांग की थी।
पुलिस को दिए गये बयान में अय्यूब ने बताया कि वह पैसों की बात करने के लिये अपने ताऊ कपड़ा कारोबारी रहीसुदï्दीन के मकान पर ही रह गया था। रात के समय वह और ताऊ नीचे ही लेट गये। जब उसने ताऊ से पैसे मांगे तो उन्होंने उसे पैसे देने से साफ मना कर दिया। इसके बाद उसने ताऊ को गोली मार दी।