गाजियाबाद (युग करवट)। उच्च न्यायालय ने फिलहाल लोनी नगर पालिका विस्तार पर रोक लगा दी है। हाल ही में सरकार ने लोनी नगर पालिका का विस्तार करते हुए ११ गांवों को इसमें शामिल किया था। सरकार के इस फैसले के खिलाफ ग्राम प्रधान कोर्ट चले गए थे। याचिकाकर्ता व सिखरानी गांव के प्रधान रजनीश मावी ने बताया कि डेढ़ साल पहले ही वह चुनाव जीत कर प्रधान बने थे। प्रधान का कार्यकाल पांच साल का होता है, लेकिन सरकार हमारा कार्यालय बीच में ही समाप्त कर इन गांवों को नगर पालिका में समायोजित कर रही थी। लोनी नगर पालिका में गांव बंथला, टीला शहबाजपुर, अगरौला, खानपुर जप्ती, दुगरावली, इलायचीपुर, हकीकतपुर खुदाबांस, सिखरानी, जावली, अफजलपुर, पावी सादकपुर, निस्तौली को शामिल किया गया था, लेकिन इसके विरोध में ग्राम प्रधान कोर्ट चले गए। हालांकि इस मामले में प्रशासनिक अधिकारियों ने कोई जानकारी होने से इन्कार किया है।