नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। लोनी नगर पालिका चेयरमैन रंजीता धामा से पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर परिषद के अधिशासी अधिारी केके मिश्र पर कार्रवाई करने की मांग की है। रंजीता धामा ने आरोप लगाया है कि केके मिश्र ने उनके खिलाफ झूठी शिकायत की है। रंजीता धामा ने बताया कि केके मिश्र ने लोनी बार्डर थाने में एक शिकायत उनके खिलाफ दी है जो पूरी तरह से फर्जी है। रंजीता धामा ने बताया कि वह १३ जून को नगर पालिका परिषद गई थी, जहां एक सरकारी कार्य के लिए अधिशासी अधिकारी केके मिश्र को फोन किया तो उन्हें बताया गया कि वह नोएडा मीटिंग में हैं, जबकि उन्हें आवश्यक कार्य था। चेयरमैन ने आरोप लगाया कि उन्हें सूचना मिली कि केके मिश्र अपने कार्यालय में न आकर बलराम नगर आवास थे, जब वह तत्काल ईओ आवास पर पहुंची तो वहीं केके मिश्र अपनी अधीनस्थ कर्मचारी मुख्य खाद्य अधिकारी संजीव कुमार, निलम्बित कर्मचारी तपसी सिंह के साथ मई-२०२४ के सफाई कार्य बिल भुगतान से अधिक के बना रहे थे। रंजीता ने बताया कि निकाय के सफाई कार्य करने वाले कम्पनी के कर्मचारियों द्वारा तीन दिन हडताल की गई थी। हडताल के दिनों का भुगतान की कटौती न करते हुए बिल का सत्यापन मेरे समक्ष प्रस्तुत किया , जिस पर मेरे द्वारा स्पष्टïीकरण मांगा गया। इसके बाद मेरे खिलाफ शिकायत की गई। चेयरमैन ने बताया कि पूर्व में भी उनके खिलाफ केके मिश्र द्वारा अन्य कर्मचारियों से शिकायत कराइ गई थी। रंजीता धामा ने कहा कि सफाई कार्य की निविदा को दो करोड से चार करोड की धनराशि निकालने व उसके भुगतान को लेकर उन पर दबाव बनाया जा रहा है।