युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कप्तान चाहे अपराध रोकने और अपराधियों की नाक में नकेल डालने की कितनी भी कोशिश कर ले लेकिन अगर उनके मातहत ही उन्हें गुमराह करने और अपराधियों पर मेहरबान होने लगें तो जनपद की सुरक्षा व्यवस्था का तो भगवान ही बेली है। डीएलएफ के पास दिनदहाड़े हुई महिला से लाखों की लूट की तहरीर मिलने के बाद भी एसएचओ ने उक्त लूट के बारे में न केवल अनभिज्ञता जता दी बल्कि यह भी बोल दिया कि पीडि़ता से दो बार संपर्क करने पर भी उनका रिस्पॉन्स नहीं मिला। डीएलएफ में रहने वाली सुमन नामक महिला के साथ बाइकर्स गैंग ने उस समय लाखों की लूट की थी जब वह स्कूल में पढऩे वाले अपने बच्चे को रिसीव करने के लिए खड़ी थी। महिला ने बताया है कि बदमाश उनकी लाखों की सोने का लॉकेट लगी चेन और पर्स लूटकर भाग गये। बदमाशों का विरोध करते हुए वह घायल भी हो गई। बता दें कि पिछले कुछ समय में ही इस थाना क्षेत्र में लूट, झपटमारी व चोरी जैसे कई वारदातें घटित हो चुकी हैं।