युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों की याद में गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलनरत किसानों ने श्रद्घांजलि दी। सुबह के समय किसानों ने हवन किया और उसके उपरांत प्रदर्शन स्थल पर श्रद्घांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान बॉर्डर पर पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के साथ भारी पुलिस बल मौजूद रहा।
लखीमपुर खीरी में आज मृतक किसानों के लिए अंतिम अरदास कार्यक्रम किया जा रहा है। इसके अलावा किसान नेताओं के आह्वïान पर गाजीपुर बॉर्डर सहित यूपी के विभिन्न गांवों में भी हवन व श्रद्घांजलि सभा का आयोजन किया गया। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष विजेंद्र सिंह के नेतृत्व में सुबह गाजीपुर बॉर्डर पर हवन कर किसानों ने मृतकों की याद में आहूति दी। मंच पर श्रद्घांजलि सभा का आयोजन कर मृतकों की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर अंतिम अरदास की गई। इस दौरान किसानों ने कहा कि वह पीडि़त परिवारों को न्याय दिलाकर रहेंगे। वहीं आयोजन को देखते हुए गाजीपुर बॉर्डर पर सुबह से भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया। एडीएम सिटी विपिन कुमार, सीओ अभयराम सहित पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। आईजी प्रवीण कुमार ने सुबह सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। एडीएम सिटी विपिन कुमार ने बताया कि लखीमपुर में हुई हिंसा के बाद से सर्तकता बरती जा रही है। मामले की संवदेनशीलता को देखते हुए पुलिस बल तैनात किया गया था। हालांकि, कोई विवाद इस दौरान सामने नहीं आया। बॉर्डर से भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत सहित अन्य किसान नेता पहले ही लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गए थे।