युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। प्रदूषण की समस्या को दूर करने के लिए रोडवेज एक बड़ा कदम उठाने जा रहा है। रोडवेज गाजियाबाद रीजन के बेड़े में 50 सीएनजी चालित बसें शामिल करने जा रहा है। गाजियाबाद प्रदूषण के मामले में काफी बदनाम शहर है। इसी को लेकर अब सरकार भी सतर्क हो गई है। इसी के चलते अब गाजियाबाद रोडवेज के बेड़े में सीएनजी बसों का बेड़ा तैयार हो रहा है। रोडवेज को इससे पूर्व पांच वर्ष पहले सीएनजी बसें मिली थी। उस समय एनजीटी के एक निर्देश के आधार पर गाजियाबाद डिपो को 70 सीएनजी बसों का आवंटन किया गया था। इसके बाद से रोडवेज के बेड़े में डीजल चालित बसों को ही शामिल किया जा रहा है। हालांकि इन बसों को रोडवेज गाजियाबाद से लेकर दूसरे महानगरों के लॉन्ग रूट पर संचालित करता है। मगर डीजल की इन बसों से प्रदूषण उठता है। प्रदूषण के कारण डीजल की बसों को अधिक लाइक नहीं किया जाता है। हालांकि प्रदूषण की समस्या को दूर करने के लिए बीएस-6 तकनीकी ईंजन की बसें रोडवेज के बेड़े में शामिल है। प्रदूषण की इस समस्या को दूर करने के लिए रोडवेज को शासन ने 50 नई सीएनजी बसें आवंटित करने जा रहा है। इन बसों की अभी कानपुर में बॉड़ी बन रही है। माना जा रहा है कि एक दो महीनों के अंदर सभी 50 सीएनजी बसें रोडवेज को मिल जाएंगी।