गाजियाबाद (युग करवट)। नोएडा से लखनऊ के बाद अब लखनऊ से गोरखपुर रूट पर भी प्राइवेट बसों का संचालन किया जाएगा। इसके लिए जल्दी ही परमिट जारी करने की कार्रवाई की जाएगी। करीब एक वर्ष पहले प्रदेश सरकार ने नोएडा से लखनऊ तक के रूट पर प्राइवेट बस को भी अनुमति देते हुए सरकार ने परमिट जारी किए है। इस रूट पर पहले केवल रोडवेज की बसों का ही आरक्षण था। इनके अलावा और कोई भी प्राइवेट कंपनी की बस संचालित नहीं हो पाती थी। गत दिनों इस रूट पर प्राइवेट कंपननियों की बसों को भी परमिट जारी कर दिए गए। इसी तरह से अब लखनऊ से गोरखपुर रूट का भी प्रदेश सरकार निजीकरण करने जा रही है। जल्दी ही प्रदेश सरकार इसके लिए नोटिफिकेशन जारी करेगी।
नोटिफिकेशन के जारी होने के बाद इस रूट पर भी रोडवेज के साथ प्राइवेट ऑपरेटर्स की बसों का संचालन होगा। इससे पहले नोएडा से लखनऊ रूट पर प्राइवेट ऑपरेटर्स की बसों का संचालन किया गया है। इसी पैटर्न पर प्रदेश सरकार जल्दी ही लखनऊ से गोरखपुर रूट पर भी प्राइवेट बसों को अनुमति जारी करने की तैयारी में है। यह रूट अभी रोडवेज के अंडर में है। अगर ऐसा होता है तो जल्दी ही इस रूट पर भी रोडवेज का एकाधिकार समाप्त हो जाएगा।