गाजियाबाद (युग करवट)। वरिष्ठ आईएएस संतोष यादव रिश्ता निभाना कभी नहीं भूलते। गाजियाबाद के लोग यदि उन्हें किसी कार्यक्रम में बुलाते हैं तो व्यस्त होने के बावजूद भी वो जरूर आते हैं। २००४ में जब वह जिलाधिकारी गाजियाबाद थे तब से उनके रिश्ते गाजियाबाद से बने हैं। लोग उन्हें विकास पुरुष कहते हैं क्योंकि गाजियाबाद में चाहे एलिवेटेड रोड हो या कोई और पुल हो वो सब संतोष यादव के अथक प्रयास से ही बने थे। इसीलिए लोग उन्हें हमेशा याद करते हैं। जीडीए वीसी रहते हुए भी उन्होंने जिस तरह से भ्रष्टïाचार पर अंकुश लगाया था और विकास किया था वो भी एक मिसाल था। इसलिए उनको हमेशा लोग याद करते हैं। कोई भी पर्व हो वो उसमें जरूर शामिल होते हैं। २००४ से इस्कॉन मंदिर में आयोजित होने वाली कृष्ण जन्माष्टïमी या फिर ईद मिलन समारोह हो वो हमेशा जरूर शिरकत करते हैं। युग करवट के एडिटर इन चीफ सलामत मियां के एक छोटे से कार्यक्रम में वो जरूर शामिल हुए। हालांकि उन्हें सरकारी दौरे पर जाना था लेकिन उसके बाद भी वो आये और उन्होंने मुबारकबाद दी।