रोहित शर्मा
गाजियाबाद (युग करवट)। कन्याकुमारी से कश्मीर तक चल रही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की सफलता से कांग्रेसी जोश और उत्साह से लबरेज हैं। खासकर, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जनपद के लोनी में उमड़ी जनता की भीड़ ने कांग्रेसियों की उमंग को अर्श पर पहुंचा दिया है। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का समापन 26 जनवरी को श्रीनगर में ध्वजारोहण के साथ हो जाएगा। पार्टी के सूत्रों की माने तो प्रथम चरण समाप्त होने के साथ ही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दूसरे चरण की शुरूआत किए जाने की तैयारियां भी कांग्रेस में हो रही हैं। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का दूसरा चरण 4,000 किलोमीटर लंबी दूरी तय करने वाला हो सकता है। दूसरे चरण में भारत जोड़ो यात्रा पश्चिम से पूरब की ओर पहले से ज्यादा दमखम के साथ निकाली जा सकती है। काबिलेगौर है कि कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा की शुरूआत 7 सितंबर 2022 को कन्याकुमारी से की थी। लगभग 3,500 किलोमीटर की भारत जोड़ो यात्रा अभी तक लगभग 3,000 किलोमीटर का सफर तय कर चुकी है।
भारत जोड़ो यात्रा को सफल बनाने के लिए पार्टी के बड़े नेता, सोशल सोसायटी से जुड़े लोग और कार्यकर्ता कदम से कदम मिलाकर राहुल गांधी के साथ चल रहे हैं। भारत जोड़ो यात्रा जहां से भी गुजर रही है जनता का सैलाब राहुल गांधी को समर्थन देने उनके साथ उमड़ता नजर आ रहा है। भारत जोड़ो यात्रा को उत्तर प्रदेश से जोडऩे के लिए उनके रूट में थोड़ा फेरबदल किया गया। 3 जनवरी को राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा ने उत्तर प्रदेश की सीमा में गाजियाबाद के लोनी में प्रवेश किया। लोनी पहुंचने पर भारत जोड़ो यात्रा को उम्मीद से ज्यादा सफलता मिली। ऐसा लगा कि राहुल गांधी के साथ समूचा लोनी सडक़ों पर उतर आया हो। पदयात्रा लोनी से बागपत होते हुए हरियाणा की ओर रवाना हो चुकी है। वहां से पंजाब होते हुए राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा 26 जनवरी को श्रीनगर पहुंचेगी। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को मिल रही अप्रत्याशित सफलता से कांग्रेसियों के हौंसले बुलंद नजर आ रहे हैं। यही कारण है कि पार्टी में यात्रा के दूसरे चरण को लेकर सुगबुगाहट होने लगी है। पार्टी के सूत्र बता रहे हैं कि कांग्रेस में भारत जोड़ो यात्रा के दूसरे चरण की तैयारी भी शुरू हो चुकी है। बताया जा रहा है कि भारत जोड़ो यात्रा का दूसरा चरण दूरी में पहले के रिकॉर्ड भी ध्वस्त करने जा रहा है। सूत्रों की माने तो दूसरे चरण को लेकर पार्टी में हाईकमान स्तर पर मंथन शुरू हो चुका है। दूसरे चरण में यात्रा का रूट पश्चिम से पूरब की ओर 4,000 किलोमीटर लंबा हो सकता है। इसमें उन राज्यों और जनपदों को कवर किया जा सकता है जो पहले चरण में भारत जोड़ो यात्रा से अछूते रह गए थे। खैर, राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के पहले चरण की सफलता के बाद कांग्रेसियों का जोश और उत्साह उनके चेहरों पर नजर आने लगा है। कांगे्रसी भी दिलों जान से चाहते हैं कि कांग्रेस इसी प्रकार राहुल गांधी के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ती रहे।
26 जनवरी से शुरू होगा हाथ से हाथ जोड़ो अभियान
गाजियाबाद(युग करवट)। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से सर्दी के मौसम में भी कांग्रेसियों के शरीर में पैदा हुई गर्मी को पार्टी हाईकमान भी बरकरार रखना चाहता है। यही कारण है कि 26 जनवरी से पार्टी में हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की शुरूआत की जा रही है। अभियान के तहत कांग्रेस के नेता ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर लोगों को पार्टी के साथ जुडऩे के लिए उसकी नीतियों के बारे में जानकारी देंगे। इस दौरान पोस्टर चिपकाने और नुक्कड़ सभाएं करने जैसे तमाम अभियान पार्टी के संगठन की ओर से चलाए जाएंगे। पार्टी में संगठन स्तर पर हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की तैयारियां भी शुरू हो चुकी हैं।
जिला एवं महानगर अध्यक्ष ने प्रकट किया कार्यकर्ताओं का आभार
गाजियाबाद(युग करवट)। जनपद गाजियाबाद को उत्तर प्रदेश का एंट्री गेट कहा जाता है। लोनी से होकर गुजरी राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को मिली अपार सफलता से पार्टी का संगठन बेहद उत्साहित है। भारत जोड़ो यात्रा की सफलता का श्रेय कांग्रेस के जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र यादव और महानगर अध्यक्ष लोकेश चौधरी पार्टी के आम कार्यकर्ताओं को देते हैं। दोनों अध्यक्षों का कहना है कि कार्यकर्ताओं की मेहनत और लगन के बिना गाजियाबाद में भारत जोड़ो यात्रा को ऐतिहासिक बनाना आसान नहीं था। भारत जोड़ो यात्रा में मिले पार्टी के तमाम कार्यकर्ताओं के सहयोग के लिए अध्यक्षों ने सभी का आभार प्रकट किया है।