युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। राष्ट्रीय जाट महासभा ने डीएम के माध्यम से ज्ञापन सौंप कर देश के प्रधानमंत्री से आरक्षण का लाभ देने की मांग की है। महासभा के पदाधिकारियों ने कहा कि देश में किसी भी भर्ती परीक्षा के लिए बनाए जाने वाले केन्द्रों की अधिकतम दूरी १२५ किलोमीटर के तहत ही रखी जाए। इसके अलावा महासभा ने हाल में यूपी में २०२१ दारोगा भर्ती में सामने आई धांधली की न्यायिक जांच कराने, कोरोना के कारण दो साल से सेना भर्ती न होने के कारण आयु सीमा समाप्त कर चुके युवाओं की सेना भर्ती में आयु सीमा में दो साल की छूट देने और आर्थिक व शैक्षिक तौर पर पिछड़े जाट समाज को केन्द्र में अन्य पिछड़ा वर्ग की सूची में शामिल करते हुए आरक्षण का लाभ दिया देने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में प्रदेश महासचिव सुभाष चौधरी, जिलाध्यक्ष ललित चौधरी, जिला महासचिव सन्नी पंवार, जिला सचिव चौधरी ललित चौधरी, उपाध्यक्ष प्रभव जावला आदि मौजूद रहे।