सीडीटीआई में हुआ राष्ट्रीय पुलिस प्रशिक्षण संगोष्ठी का आयोजन
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरों द्वारा कमला नेहरू नगर स्थित केन्द्रीय गुप्तचर प्रशिक्षण संस्थान सीडीटीआई में ३८वीं राष्ट्रीय पुलिस प्रशिक्षण संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दिवसीय संगोष्ठी का शुभारंभ मुख्य अतिथि केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने किया। संगोष्ठी का विषय ‘पुलिस प्रशिक्षण में उत्तम कार्यप्रणालियों का प्रसार’ रहा, जिस पर विशेषज्ञों ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर मुख्य अतिथि केन्द्रीय राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने क्षमता निर्माण और पुलिस प्रशिक्षण में उत्तम कार्यप्रणालियों को बढ़ावा देने के लिए पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने पूरे देश में पुलिस अकादमियों और प्रशिक्षण संस्थानों के मध्य आपसी सहयोग बढ़ाने और संसाधनों को साझा करने की आवश्यकता पर बल दिया। केन्द्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि प्रशिक्षण संस्थानों के प्रमुखों और विशेषज्ञों के मध्य सहयोग प्रशिक्षण संसाधनों को मजबूती प्रदान करेगा और प्रशिक्षण मानकों का निर्धारण सुनिश्चित करेगा। पुलिस के कार्यों में समग्र दक्षता लाएगा और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ाएगा। उन्होंने भारतीय पुलिस को स्मार्ट बनाने के लिए अनुभव साझा करने और प्रौद्योगिकी के उपयोग पर जोर दिया। इस अवसर पर उन्होंने भारतीय पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों की निर्देशिका डीपीटीआई के दूसरे संस्करण का विमोचन किया। साथ ही बीपीआर एंड डी की प्रतिष्ठित पत्रिका ‘इंडियन पुलिस जर्नल’ के 68 वें खंड का भी विमोचन भी किया गया। बीपीआर एंड डी के महानिदेशक बालाजी श्रीवास्तव ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए पुलिस अकादमियों और प्रशिक्षण संस्थानों के मध्य संसाधनों, ज्ञान और विशेषज्ञता को साझा करने के महत्व को रेखांकित किया।
उन्होंने प्रतिनिधियों से पुलिस प्रशिक्षण में उत्कृष्टता प्राप्त करने और जमीनी स्तर पर समस्याओं के व्यावहारिक समाधान खोजने के इस दो दिवसीय संगोष्ठी में विचार-विमर्श के लिए सक्रिय रूप से भाग लेने का आग्रह किया। इस दौरान तकनीकी सत्रों में पूर्व आईपीएस सदस्य लोकपाल अर्चना रामासुंदरम, लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकामदी निदेशक श्रीनिवास आर कटिकिथाला, पूर्व आईपीएस जयंतो नारायण चौधरी ने भी व्याख्यान दिए।