पुलिस ने ३६ घंटे में ही कर दिया सनसनीखेज वारदात का खुलासा
गाजियाबाद (युग करवट)। रालोद नेता लोकेश चौधरी की गोली-बारी की वारदात का पुलिस ने ३६ घंटे बाद खुलासा कर दिया। डीसीपी सिटी जोन कुंवर ज्ञानंजय सिंह एवं एसीपी कविनगर अभिषेक श्रीवास्तव ने प्रेसवार्ता में इस घटना का खुलासा करते हुए बताया कि इस घटना के पीछे पैसे का लेन-देन रहा। पुलिस ने दोनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को दोपहर बाद तीन बजे के आस-पास रालोद नेता लोकेश चौधरी को आरडीसी की सर्विस रोड पर स्थित कॉपरेटिव बैंक के पास अज्ञात हमलावरों के द्वारा कई गोलियां मारी गई थी। उक्त वारदात के खुलासे के प्रयास में लगी कविनगर थाने के एसएचओ योगेंद्र सिंह मलिक की टीम ने जहां मात्र ३६ घंटे के अंदर ही लोकेश चौधरी की हत्या का प्रयास करने वाले दोनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया बल्कि उनके पास से वह वैपन भी बरामद कर लिया जिससे रालोद नेता को गोली मारी गई थी। आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने अपने नाम राशिद व शाहिद निवासी सैक्टर-२३ संजयनगर थाना मधुबन बापूधाम बताये। पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनके ऊपर लोकेश चौधरी के सवा लाख रुपये बकाया थे लेकिन रालोद नेता उनके ऊपर उधारी की वास्तविक रकम से कई गुना अधिक राशि बता रहा था। जिसके वजह से उनका कई बार विवाद भी हुआ था और इसी विवाद के चलते मंगलवार लोकेश चौधरी पर हमला किया गया था।