युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कविनगर रामलीला मैदान के सामने नगर निगम द्वारा ई-रिक्शा खड़ा करने को जमकर विवाद हुआ। दरअसल सभी ई-रिक्शा रामलीला मैदान के मुख्य गेट के सामने खड़ी थी। वहीं से ही होकर शव अंतिम यात्रा वाहन को बाहर निकलना था। गेट पर खड़े ई-रिक्शा को लेकर यहां जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद ही ई-रिक्शा को वहां से हटाया गया। दरअसल नगर निगम प्रशासन द्वारा हाल ही में ई-रिक्शा की खरीद की गई है। निगम शहर के लिए करीब 200 ई-रिक्शा की खरीद कर रहा है। इनमें आज सुबह करीब चालीस ई-रिक्शा गाजियाबाद पहुंची है। इन सभी ई-रिक्शा का आज ही उदघाटन किया जाना है। इन सभी ई-रिक्शा को कविनगर रामलीला मैदान के सामने मुख्य गेट से सटाकर कर खड़ा कर दिया गया। विवाद तब हुआ जब ई-रिक्शा के खड़ा होने से मुख्य गेट से आवागमन बंद हो गया। इस कारण आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया। इसी रामलीला मैदान में शव अंतिम यात्रा वाहन खड़े होते है। इस दौरान दो शव वाहन वहां से जाने थे। मगर आगे ई-रिक्शा खड़ी थी। उनके नहीं हटने के कारण पैदा हुए विवाद को लेकर हंगामा हुआ। बाद में पार्षद हिमांशु मित्तल मौके पर पहुंचे। पार्षद मित्तल ने किसी तरह से माहौल को शंात कराने के लिए रामलीला मैदान के गेट के सामने से ई-रिक्शा को हटवाया।