युग करवट ब्यूरो
लखनऊ। तमाम कयासों और चर्चाओं पर विराम लगाते हुए भाजपा हाई कमान ने राज्य सभा चुनाव के लिए कई चौंकाने वाले उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। जिनके नाम बड़े जोर-शोर से चल रहे थे उनमें से किसी एक को भी मौका नहीं दिया गया। मुख्तार अब्बास नकवी के बारे में चर्चा थी कि उन्हें राज्यसभा उम्मीदवार बनाया जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। चर्चा है कि उन्हें रामपुर में होने वाले लोकसभा के उपचुनाव में पार्टी अपना उम्मीदवार बना सकती है। वहीं जफर इकबाल का नाम भी प्रमुखता से चल रहा था लेकिन हाईकमान ने उन्हें भी मौका नहीं दिया। वहीं सपा छोडक़र भाजपा में आने वाले संजय सेठ को भी पार्टी ने उम्मीदवार नहीं बनाया।
राज्यसभा की 11 सीटों पर दस जून को होने वाले चुनाव के जिए भाजपा के आठों प्रत्याशियों ने आज विधानभवन में नामांकन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह मौजूद रहे। राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी के रूप में नामांकन करने वालों में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी, पूर्व विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल, राज्यसभा सदस्य सुरेन्द्र सिंह नागर, बाबूराम निषाद, दर्शना सिंह, संगीता यादव, डॉ. के लक्ष्मण और मिथलेश कुमार शामिल रहे। उत्तर प्रदेश विधानसभा में 403 सदस्य में से भाजपा गठबंधन के पास 275 सदस्य हैं, जोकि इनके पक्ष में मतदान करेंगे। भाजपा के आठों प्रत्याशी भाजपा प्रदेश कार्यालय से मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ के साथ करीब 11.30 बजे नामांकन करने विधानभवन पहुंचे थे।
सुरेन्द्र सिंह नागर भाजपा में गुर्जर बिरादरी के नेता हैं। बाबूराम निषाद उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष हैं। दर्शना सिंह भाजपा की राष्ट्रीय महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष हैं। संगीता यादव गोरखपुर के चौरी-चौरा से विधायक रही हैं। आठ नामों में दो सबसे चौंकाने वाले नाम भाजपा पिछड़ावर्ग मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. के लक्ष्मण और शाहजहांपुर से समाजवादी पार्टी से सांसद रहे और पुवायां विधायक रहे मिथलेश कुमार के हैं।
भारतीय जनता पार्टी ने राज्यसभा की रिक्त हो रही यूपी कोटे की 11 सीटों में से दो और प्रत्याशियों के नाम सोमवार शाम को घोषित कर दिए थे। बता दें कि इससे पहले रविवार को छह प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की गई थी। इस प्रकार से भाजपा ने कुल आठ प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया।
चर्चा में कई नाम चलते रहे थे और भाजपा हाईकमान ने राज्यसभा चुनाव के लिए शेष रह गए दो प्रत्याशियों की घोषणा से चौंका दिया। पार्टी ने पिछड़ा वर्ग मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, हैदराबाद निवासी डॉ. के. लक्ष्मण को उत्तर प्रदेश से राज्यसभा भेजने का निर्णय लिया। इसी तरह दलित वर्ग को भी समायोजित करते हुए दूसरे प्रत्याशी के रूप में सपा छोडक़र भाजपा में आए शाहजहांपुर के पूर्व सांसद मिथलेश कुमार के नाम पर मुहर लगाई।