युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। राष्टï्रीय लोकदल के राष्टï्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चौधरी चरण सिंह जी की ३४वीं पुण्य तिथि पर उन्हें श्रद्घांजलि अर्पित करते हुए कहा कि स्व. चौधरी साहब ने राजनीति की गंगा जो शहर के महलों में कैद थी उसे शहर से निकालकर गांव की गलियों में उतारा और देश में युवाओं को राजनीति में लाये।
उन्होंने कहा कि चौधरी साहब ने रामनरेश यादव, कर्पूरी ठाकुर, देवी दयाल और बीजू पटनायक को मुख्यमंत्री बनाकर युवाओं में उत्साह पैदा किया। उन्होंने कहा कि असल में चौधरी साहब नौजवान नेताओं को राजनीति में लाने की एक पाठशााला थे। उन्होंने कहा कि चाहे मुलायम सिंह यादव हो, नीतिश कुमार हों, या जो भी नेता हों, वो सब इसी पाठशाला की देन है। उन्होंने कहा कि मुझ जैसे व्यक्ति के पास आज जो कुछ भी है वो सब स्व. चौधरी साहब की ही देन है। इसी पाठशाला में दाखिला लेकर मैं राजनीति में आया और जब मेरठ यूनिवर्सिटी का जब अध्यक्ष चौधरी साहब ने मुझे राजनीति में लाकर उस समय युवा इकाई की कमान सौंपी थी। इतना ही नहीं आजम खान भी सबसे पहले १९८० में लोकदल के टिकट से चौधरी साहब ने उन्हें विधायक का चुनाव लड़ाया था। त्रिलोक त्यागी ने कहा कि आज राजनीति में जो भी बड़े नाम है वो सब चौधरी चरण सिंह की बदौलत ही है। क्योंकि उन्होंने किसानों के बच्चों को हमेशा आगे बढ़ाया और शहर से ज्यादा गांव पर ध्यान दिया और शहर की राजनीति को गांवों तक ले गये। आज की राजनीति में उन जैसा कोई भी राजनेता नहीं है और ना ही चौधरी साहब की तरह कोई नेता पैदा हो सकता है। उन्होंने कहा कि स्व. अजित सिंह जी किसानों की ही बात करते थे, गांवों की बात करते थे और आज उनके बेटे जयंत चौधरी भी गांवों और किसानों की ही बात करते हैं।