युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। बीती रात कविनगर थाने की सेक्टर-९ पुलिस चौकी से मात्र चंद कदम की दूरी पर स्थित आर-९/९ राजनगर नंबर की कोठी में रहने वाले प्रसिद्घ उद्योगपति सुरेंद्र वर्मा और उनकी पत्नी को गन प्वाइंट व चाकू की नोक पर लेकर चार बेखौफ बदमाशों ने लगभग डेढ़ घंटे तक लूटपाट की। उद्योगपति सुरेंद्र वर्मा और उनकी पत्नी के मुताबिक बदमाश घर में रखे लगभग ढाई लाख के सोने के जेवरात व डेढ़ लाख की नगदी सहित कीमती सामान लूटकर चले गये। उद्योगपति की पत्नी ने बताया कि बदमाशों ने लूट के बाद उन्हें गोली मारने की धमकी देकर मेन गेट पर लगा ताला खुलवाया और फिर रुपोश हो गये। उधर लूट की सूचना मिलने के बाद मौके पर सीओ कविनगर अंशु जैन, एसएचओ संजीव कुमार शर्मा व सेक्टर नौ चौकी प्रभारी तरूणा सिंह भी पुलिस टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच गये। उसके बाद पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का मौका मुआयना कर लूट का शिकार हुए उद्योगपति व उनकी पत्नी के अलावा नौकरों व किरायेदार से पूछताछ की।
इस संदर्भ में सीओ कविनगर अंशु जैन का कहना था कि वारदात का खुलासा शीघ्र कर दिया जायेगा। जानकारी के अनुसार मूलरूप से मेरठ के पूठड़ी निवासी वृद्घ सुरेंद्र वर्मा की गिनती नामीन उद्योगपतियों में होती रही है। वह अपनी पत्नी के साथ सेक्टर-नौ स्थित कोठी नंबर नौ में रहते हैं और उनकी चार पुत्रियां विदेश में रहती हैं। इसके चलते श्री वर्मा ने अपनी कोठी की दूसरी मंजिल जो किराये पर उठा रखी है, वहीं कई नौकरों को सर्वेंट क्वॉर्टरों में रखा हुआ है। बीती रात हुई घटना के संदर्भ में श्री वर्मा व उनकी पत्नी ने बताया कि रात लगभग साढ़े तीन बजे खटर-पटर सुनकर उनकी आंख खुल गई। इसके बाद उन्होंने देखा कि कई बदमाश उनके घर में चेारी कर रहे हैं। जब वह दोनों बैड से नीचे उतरे तो बदमाशों ने उन्हें गन प्वाइंट पर लेकर चुप रहने और घर में रखे पैसे व जेवरात देने को कहा। इसके बाद उन्होंने घर में रखे कैश व जेवरात सहित चार लाख का माल बदमाशों को दे दिया।
बोला बदमाश, बाबू जी दो लाख दे दो, मरते हुए परिजन का इलाज करवाना है
उद्योगपति सुरेंद्र वर्मा के यहां लूट करने वाले बदमाशों में से एक लुटेरे ने उन्हें यह कहकर चौंका दिया कि बाबू जी उसके परिवार का एक सदस्य उपचार ना मिलने की वजह से मौत के मुंहाने पर पहुंच चुका है इसलिये आप मुझे दो लाख रुपए दे दो। जब सुरेंद्र वर्मा व उनकी पत्नी ने बताया कि घर में केवल डेढ़ लाख के आसपास ही कैश होगा और जो कंगन, चूडिय़ां और अन्य जेवरात उन्होंने पहन रखे हैं, बस वही उनके पास हैं तो बदमाश उसके बाद चुप हो गया।
मेन गेट खुलवाते समय बदमाशों ने श्रीमती वर्मा के पैर भी छूए
बीती रात उद्योगपति के यहां हुई लूट के दौरान एक और चौंकाने वाली बात उस समय हुई जब सुरेंद्र वर्मा की पत्नी ने आराम से मेन गेट का ताला खोल दिया और बदमाश उनके पैर छूकर बाहर निकल गये।
दंपत्ति के उठने से पहले ही घर खंगाल लिया था
बदमाशों ने सुरेंद्र वर्मा व उनकी पत्नी के जागने से पहले ही पूरा घर खंगाल लिया था और सेफ में रखे सवा लाख की रकम और कीमती सामान भी ले लिया था। उनके जागने के बाद बदमाशों ने श्रीमती वर्मा से उनके जेवरात व श्री वर्मा से उनका पर्स लूट लिया।
आज होना था श्री वर्मा का ऑपरेशन
जो कैश बदमाश लूटकर ले गये हैं, वह रकम श्री वर्मा ने अपने ऑपरेशन के लिये पांच दिन पूर्व ही बैंक से निकाली थी। चिकित्सकों ने उनके ऑपरेशन के लिये आज की तिथि तय की थी।
गैस कटर से कई दरवाजों के कुंडे काटे
बदमाशोंं ने कोठी में प्रवेश करने के बाद गैस कटर से कोठी में लगे कई दरवाजों के कुंडे काटे। इसके बाद वह घर में प्रवेश कर माल समेटने लगे। यहां ताज्जुब की बात यह है कि जब बदमाशों ने शीशा तोड़ा और कुंडे काटे, उसकी भनक कोठी में रहने वाले किरायेदार के परिवार के अलावा किसी भी नौकर को नहीं लगी।
लूट के बाद जर्मन शैफर्ड की हालत बिगड़ी
कोठी में प्रवेश करते समय बदमाशों ने उद्योगपति के पैट जर्मन शैफर्ड को या तो कुछ नशीला/विषैला पदार्थ खिलाया अथवा सूंघा दिया होगा। यहां यह बात इसलिये कही जा रही है कि लूट के घंटों बाद भी उनके पैट की हालत बिगड़ी हुई दिखाई दे रही थी और वह बेहोशी जैसी अवस्था में पड़ा हुआ था।