गाजियाबाद। राकेश मार्ग पर एक दुकान की टिन शेड में करंट उतरने से तीन बच्चों सहित हुई पांच लोगों की मौत के मामले में जिला प्रशासन की कमेटी ने आज अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। इस रिपोर्ट में दुकानदार, मकान मलिक सहित विद्युत विभाग और नगर निगम को भी दोषी करार दिया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि दुकान पर अवैध रूप से टिन शेड डाला गया था, जिस पर नगर निगम के अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की। वहीं विद्युत विभाग ने भी लाइनों की मॉनीटिरिंग नहीं की, जिसकी वजह से करंट लगने से पांच लोगों की मौत हो गई। दुकानदार द्वारा केबल छीलने के बाद उसे सही न कराने और मकान मलिक को मामले का संज्ञान न लिए जाने का दोषी माना गया है। मामले की रिपोर्ट डीएम को सौंप दी गई है।