नोएडा (युग करवट)। रजिस्ट्री नहीं होने से परेशान ग्रेटर नोएडा वेस्ट स्थित सुपरटेक इको विलेज-1, 2, 3 के सैकड़ों निवासी बुधवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट स्थित ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अस्थाई दफ्तर पर पहुंचे। यहां पर बैठकर मुख्य कार्यपालक अधिकारी प्रत्येक बुधवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट में रहने वाले लोगों की समस्याएं सुनते हैं।
आज मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण मीटिंग के लिए लखनऊ गए हैं। उनकी जगह अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपचंद ने लोगों की समस्याएं सुनी। सुपरटेक इकोविलेज के निवासियों का कहना है कि काफी लंबे समय से बिल्डर्स से फ्लैट की रजिस्ट्री करवाने की मांग कर रहे हैं। लेकिन बिल्डर फ्लैट की रजिस्ट्री करने के लिए तैयार नहीं है। उनका आरोप है कि बिल्डर और प्राधिकरण की मिलीभगत के चलते लोगों की रजिस्ट्री नहीं हो रही है।
इको विलेज में रहने वाले चंदन सिंह ने बताया कि करीब 15 हजार निवासी परेशान है। उन्होंने एसीओ से मिलकर गुहार लगाई कि उनके फ्लैटों की रजिस्ट्री कराई जाए। इको विलेज- 2 के निवासी मेहर गौतम ने बताया कि रजिस्ट्री नहीं होने की वजह से उन्हें बैंकों को होम लोन पर ज्यादा ब्याज देना पड़ रहा है। वह मुश्किल स्थिति में घर नहीं बेच सकते। उन्हें कोई बुनियादी सुविधाएं नहीं मिल रही है। निवासियों ने कहा कि रजिस्ट्री शुल्क हर साल बढ़ रहा है, जिस वजह से उन पर बोझ बढ़ता जा रहा है। सभी रेजिडेंट्स ने साफ कर दिया है कि इस बार बिल्डर के झूठे झांसे में नहीं आएंगे। इसके अलावा ग्रेटर नोएडा वेस्ट क्षेत्र के कई सोसायटीयो के लोगों ने एसीओ से मिलकर बिजली पानी व मेंटेनेंस आदि की परेशानियों को दूर करने का आग्रह किया।