नई दिल्ली। तहलका मैगजीन के पूर्व मुख्य संपादक तरुण तेजपाल को यौन उत्पीडऩ केस में बरी कर दिया गया है। गोवा की सत्र अदालत ने आज अपना फैसला सुनाया। तहलका के पूर्व प्रधान संपादक पर 2013 में गोवा के एक लक्जरी होटल की लिफ्ट के भीतर महिला साथी का यौन उत्पीडऩ करने का आरोप लगा था। न्यायाधीश क्षमा जोशी ने फैसला सुनाते हुए कहा कि आरोपी पक्ष सबूत नहीं पेश कर पाया। जिस कारण तेजपाल को बरी किया जाता है। गोवा पुलिस ने नवंबर 2013 में तेजपाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। तरुण तेजपाल मई 2014 से जमानत पर बाहर हैं।