नोएडा (युग करवट)। बिल्डरों द्वारा फ्लैट के पैसे लिए जाने के बाद भी खरीदारों को कब्जा नहीं दिया जा रहा है। जिसके लिए खरीदारों ने यूपी रेरा में शिकायत दर्ज कराई है। यूपी रेरा में 59 फ्लैट बुक कराने वाले खरीदारों की अपील पर इस मामले को लेकर सुनवाई चल रही है, लेकिन बिल्डरों द्वारा सुनवाई को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। बिल्डरों द्वारा सुनवाई में कोई भी पक्ष नहीं रखा जा रहा है। जिसको लेकर रेरा ने ऐसे 30 बिल्डरों के खिलाफ नोटिस जारी किया है और उन्हें सुनवाई में शामिल होने के लिए कहा है। आपको बता दें कि गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन के पास यूपी रेरा की कई करोड़ की आरसी निलंबित पड़ी हुई है। जिसके खिलाफ प्रशासन द्वारा सख्त कार्रवाई की जा रही है। बकाया वसूलने के लिए जिला प्रशासन की तहसील टीम द्वारा बिल्डरों के कार्यालय और संपत्ति को सील किया जा रहा है। ताकि वह जल्द से जल्द बकाए का भुगतान करे। वहीं, प्रशासन बिल्डरों की सील की गई संपत्ति की ई-नीलामी करने की तैयारी कर रही है। इस ई-नीलामी से आई हुई रकम के जरिए यूपी रेरा के बकाए की वसूली की जाएगी।
यूपी रेरा के एक अधिकारी ने बताया कि जिन बिल्डरों को नोटिस जारी किया गया है उनमें प्रमुख रूप से पूर्वांचल प्रोजेक्टस, ऐम्स मैक्स गार्डेनिया डेवलपर्स, सिक्का इंफ्रास्ट्रक्चर, वर्धमान इंफ्रा, अंतरिक्ष डेवलपर्स एंड प्रमोटर्स, आधार इंफ्राटेक, आराध्यम डेवलपर्सएबेट, बिल्डकॉनकृष्णा इंफ्रा, होम्सजेएसएस बिल्डकॉन कलर, सिटी होम्सएयरविल, स्मार्ट सिटीएस्थेटिक बिल्डेटेक, रोहित रस्तोगी मै ग्राम इंफ्रा बिल्डटेक, एसएमसी बिल्डर्स, प्रगति एडवर्टेसिंग मार्केटिंग आइडिया बिल्डर्स, रक्षा विज्ञान कर्मचारी सहकारी समितिआईवी,आरएम डेवलपर्सफ्यूचर वर्ल्ड ग्रीन होम्सकिंडल इंफ्रा, हाईटससोलिटेयर रियल इंफ्राजियोटेक प्रमोटर्स, निवास प्रमोटर, आस्था इंफ्रा, सिटीबुलंद रियलटर्स, अंचल लैंडमार्क, गायत्री इंफ्रा, प्लानर्सगुलशन होम शामिल है