युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण के चलते यूपी में पिछले चार महीने के अधिक समय से जारी वीकेंड कफ्र्यू हटाने की घोषणा किसी भी वक्त यूपी सरकार कर सकती है। इस संबंध में यूपी सरकार ने केंद्र सरकार को भी सूचना भेजी है। बता दें कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते यूपी में एक महीने का लॉकडाउन भी लगाया गया था। उसके उपरांत मामले कम होने पर लॉकडाउन समाप्त कर दिया गया लेकिन तब से अब तक यूपी में शनिवार-रविवार को साप्ताहिक बंदी और नाइट कफ्र्यू लगातार जारी है। जबकि वर्तमान में यूपी में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या बेहद कम हो गई है।
यूपी में बीते २४ घंटे में कोरोना संक्रमण के महज २० नए मामले दर्ज किए गए हैं। ४३ मरीज संक्रमण से मुक्त हुए हैं तो वहीं संक्रमण से यूपी में सिर्फ एक ही मौत हुई है। वर्तमान में यूपी में ५४५ एक्टिव मरीज ही बाकी बचे हैं। वह भी गंभीर स्थिति में नहीं हैं। यूपी के कई जिले कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। यानि वहां पिछले एक महीने से संक्रमण का कोई मामला दर्ज नहीं हो रहा है। यूपी के ७५ जिलों में से महज दस जिलों में ही संक्रमण के मामले दर्ज हुए हैं, बाकी जिलों में संक्रमितों की संख्या शून्य दर्ज की गई है। हालांकि, विशेषज्ञों ने अगस्त के तीसरे सप्ताह से कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना जताई थी, अभी दूसरा सप्ताह चल रहा है लेकिन यूपी में स्थिति सामान्य है।
ऐसे में व्यापारिक संगठन भी दो दिन की साप्ताहिक बंदी को समाप्त करने की मांग प्रदेश शासन से कर रहे हैं। इन हालातों को देखते हुए यूपी सरकार अब प्रदेश में साप्ताहिक बंदी को समाप्त करने की योजना बना रही है। इस मामले में केंद्र सरकार को भी पत्र लिखा गया है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही यूपी में साप्ताहिक बंदी को समाप्त किया जाएगा। इसकी घोषणा यूपी सरकार जल्द ही करने जा रही है।