– रोहित शर्मा –
गाजियाबाद। राजनीतिक दल उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट चुके हैं। कांग्रेस भी पिछले तीस सालों में राजनीतिक सूखा समाप्त करने की तैयारियों में प्रदेश में जुटी हुई है। पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी प्रभारी व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर पार्टी कार्यकर्ता लगातार सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए देखे जा रहे हैं।
कांग्रेस का पुरजोर प्रयास है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रदेश में कांग्रेस का डंका बजा दिया जाए। इसी रणनीति के तहत प्रियंका गांधी आज लखनऊ पहुंच रही हैं। प्रियंका गांधी का तीन दिवसीय लखनऊ का दौरा बेहद अहम माना जा रहा है। वे पार्टी के पदाधिकारियों को निर्देशित करने के साथ-साथ सन् 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत का खाका भी खींचेंगी।
अब यह तय हो चुका है कि यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी की अगुवाई में लड़ा जाएगा। यूं कहा जाए तो गलत नहीं होगा कि इस चुनाव परिणाम से ही प्रियंका गांधी का राजनीतिक भविष्य भी तय होगा। उत्तर प्रदेश के चुनाव में मिलने वाली जीत राजनीति में प्रियंका गांधी के पांव जमाने का काम करेगी। इसके लिए खुद प्रियंका गांधी ने कांग्रेसियों को पूरी तरह से उत्तर प्रदेश में झोंक दिया है। पार्टी हाईकमान के दिशा निर्देश पर पार्टी के अध्यक्ष और अहम पदाधिकारी लगातार धरने और प्रदर्शन करके सीधे जनता के साथ जुड़ाव की रणनीति पर काम कर रहे हैं। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में आगे की रणनीति क्या होगी, इसे तय करने के लिए आज 16, 17 और 18 जुलाई को प्रियंका गांधी लखनऊ में रहेंगी। प्रियंका गांधी के स्वागत के लिए समूचे प्रदेश से कांग्रेस के जिला एवं महानगर अध्यक्ष व पार्टी पदाधिकारी लखनऊ पहुंच चुके हैं। अमौसी एयरपोर्ट पर प्रियंका गांधी का जोरदार स्वागत करने की तैयारी कांग्रेसियों ने की हुई है। एयरपोर्ट के बाद प्रियंका गांधी प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंचेंगी। रास्ते में जीपीओ पर रूककर प्रियंका गांधी महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे। उसके बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में पहुंचकर सीधे पार्टी के नेताओं और पदाधिकारियों से प्रियंका गांधी रूबरू होंगी। जिलाध्यक्ष बिजेंद्र यादव का कहना है कि लखनऊ प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने अहम बैठक बुलाई है।
बैठक में पिछले दिनों कांग्रेस की ओर से चलाए गए अभियानों की प्रियंका गांधी समीक्षा कर सकती हैं। मसलन, कांग्रेस में पिछले दिनों चला संगठन सृजन अभियान, सेवा सत्याग्रह अभियान के दौरान कोरोना की किट बांटने का कार्यक्रम, जिला पंचायत चुनाव में विजेता रहे कांग्रेस के प्रत्याशियों को बधाई पत्र बांटने का अभियान, कोरोना संक्रमण के दौरान मृतकों की सूची तैयार करने के काम की प्रगति समीक्षा प्रियंका गांधी लखनऊ कार्यक्रम के दौरान कर सकती हैं।
प्रियंका गांधी के तीन दिवसीय लखनऊ कार्यक्रम के दौरान इस बात की रणनीति भी पार्टी अध्यक्षों एवं पदाधिकारियों के साथ प्रियंका गांधी तैयार करेंगी कि किन मुद्दों को लेकर विधानसभा चुनाव में उतरा जाए। प्रियंका गांधी आगामी कार्यक्रमों के बारे में भी पदाधिकारियों को टिप्स देंगी। उन्हें बताएंगी कि वे किस तरह से विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी कमर कसें और जमीन तैयार करें। लखनऊ दौरे के दौरान ही प्रियंका गांधी अमेठी और रायबरेली के ब्लॉक अध्यक्षों से भी मुलाकात करेंगी। आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर प्रियंका गांधी का तीन दिवसीय लखनऊ दौरा खासा अहम माना जा रहा है।