युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। सीबीएसई बोर्ड के बाद अब माध्यमिक शिक्षा परिषदी यूपी बोर्ड १२वीं की परीक्षाएं भी रद् कर दी गई हैं। प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने बैठक के बाद परीक्षा रद्द होने का ऐलान किया है। दसवीं की परीक्षाएं प्रदेश सरकार पहले ही रद्द कर चुकी है।
बता दें कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बाद से लगातार राज्य बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर रहे हैं। १०वीं की परीक्षा सभी राज्य बोर्ड रद्द कर चुके हैं लेकिन १२वीं की परीक्षा को लेकर अटकलें जारी थीं जिस पर हाल ही में सीबीएसई ने १२वीं की परीक्षा रद्द कर विराम लगा दिया है। इसके बाद कई अन्य राज्यों ने भी स्थानीय बोर्ड की १२वीं की परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। आज यूपी बोर्ड १२वीं की परीक्षा को भी रद्द कर दिया गया है। यूपी में हर साल लाखों की संख्या में छात्र १२वीं की परीक्षा में शामिल होते हैं लेकिन कोरोना संक्रमण के बीच छात्रों की सेहत को देखते हुए इस बार यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को फिलहाल रद्द कर दिया गया है। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने १२वीं की परीक्षा रद्द करने की घोषणा की है। परीक्षा रद्द होने के बाद लाखों छात्रों ने राहत की सांस ली। हालांकि, १२वीं के छात्रों को किस आधार पर अंक दिए जाएंगे, इस बारे में बोर्ड परिषद विभिन्न विकल्पों पर विचार कर रहा है।
संभावना जताई जा रही है कि परीक्षा का परिणाम इंटरनल असेसमेंट या प्री-बोर्ड परीक्षा के परिणाम पर आधारित हो सकता है। बता दें कि सीबीएसई के अलावा गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, गोवा और उत्तराखंड की भी १२वीं की परीक्षाएं रद्द हो चुकी हैं। अब इन जिलों में उत्तर प्रदेश भी शामिल हो गया है जहां परीक्षाएं रद्द हुई हैं। इस वर्ष यूपी बोर्ड परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रदेश में २६ लाख, ९ हजार, ५०१ छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।