ऊर्जा राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर से खास बातचीत
सुरेश चौधरी
नोएडा (युग करवट)। उत्तर प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर है। अब उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन के कर्मचारियों को बॉडी वॉर्न कैमरे उपलब्ध करवाए जाएंगे। बिजली चोरी और दूसरे प्रवर्तन कार्यों के दौरान कर्मचारी इन कैमरों का उपयोग करेंगे। गुरुवार को यह जानकारी उत्तर प्रदेश के ऊर्जा राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर ने हमारे संवाददाता से बातचीत करते हुए दी। इस दौरान नोएडा मीडिया क्लब में युगकरवट ने विस्तृत चर्चा की। राज्य मंत्री ने कहा कि नोएडा शहर का लाइन लॉस पूरे प्रदेश में सबसे कम है। बरसात में पॉवर कट होते हैं। कई बार तो 12 घण्टे बिजली बहाली में लगते हैं। नोएडा का रेवेन्यू कलेक्शन सबसे अच्छा है। इस समस्या का समाधान जरूर करें। नोएडा में ओवरहेड लाइंस को अंडरग्राउंड करें। उन्होंने बताया कि यह प्रयोग आजमगढ़ में हुआ था। सपा सरकार ने किया था। एडवांस टेक्नोलॉजी नहीं होने कारण वह पूरा सिस्टम खत्म हो गया। फिर लाइन बाहर आ गईं। अब अयोध्या में हम कर रहे हैं। दरअसल, रास्तों में अंडर ग्राउंड लाइनों की मरम्मत के लिए स्पेश होना चाहिए। हम लोगों की प्राथमिकता पूरे प्रदेश में 24 घण्टे बिजली आपूर्ति करने की है। उन्होंने कहा कि किसानों की दशा खराब थी। आठ घण्टे रोस्टिंग में बिजली मिलती थी। ट्रिपिंग और लो वोल्टेज सबसे बड़ी परेशानी थी। इस हालत को सुधारा है। बीते जुलाई महीने में उत्तर प्रदेश में ऐतिहासिक रिकॉर्ड तोड़ बिजली आपूर्ति की है। हम तकनीक का इस्तेमाल बढ़ा रहे हैं। लाइन टूटने से रोकने के लिए तकनीक का सहारा ले रहे हैं।
ओवरहेड लाइनों को अंडरग्राउंड करने का काम तभी संभव हो सकेगा, जब हमारे पास उचित भौगोलिक परिस्थितियां और अत्याधुनिक तकनीक होगी। उन्होंने बताया कि नोएडा शहर में हिंडन नदी के डूब क्षेत्र में अवैध बिजली आपूर्ति होती है। कोई एक व्यक्ति बिजली का बढ़ा कनेक्शन निगम से ले लेता है और फिर कच्ची कॉलोनियों में मनमाना पैसा वसूल करके आपूर्ति करता है। पिछले 5 वर्षों से इन कच्ची कॉलोनियों के लोग समाधान की मांग कर रहे हैं। राज्य मंत्री ने बताया कि यह मसला हमारे ही नहीं मुख्यमंत्री तक के संज्ञान में है। मैं कोई तय समय नहीं बता सकता लेकिन उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव के बाद इस समस्या का समाधान करेंगे। कच्ची कॉलोनियों में विद्युत आपूर्ति को नियमित और नियमित किया जाएगा।