युग करवट संवाददाता
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती ने कहा कि वे दोबारा उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री या देश का प्रधानमंत्री बनना चाहती है लेकिन राष्ट्रपति नहीं बनना चाहती है। ये बातें समाजवादी पार्टी की ओर से फैलाई जा रही है। उन्होंने मायावती ने कहा कि यदि दलित, वंचित, मुस्लिम और सवर्ण समाज के गरीब पार्टी से दोबारा जुड़ जाते हैं तो उनका मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री बनना संभव है। एक दिन पहले ही अखिलेश ने कहा था कि बसपा ने विधानसभा चुनाव में अपना वोट भाजपा को दे दिया था अब देखना है कि भाजपा उन्हें राष्ट्रपति बनाती है या नहीं। गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में मायावती ने कहा कि यूपी में मुस्लिम और कमजोर वर्ग पर हो रहे जुल्म के लिए सपा मुखिया कसूरवार हैं। अभी भी अफवाह फैलाने से बाज नहीं आ रहे हैं। अब तो घिनौनी राजनीति बंद करनी चाहिए। मायावती ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि यूपी सहित पूरे देश में दलित, मुस्लिम, आदिवासी और सवर्ण के गरीब बसपा से जुड़ जाते हैं तो बसपा प्रमुख को यूपी का मुख्यमंत्री और देश का पीएम बना सकते हैं।