ग्रेटर नोएडा (युगकरवट)। झोलाछाप बंगाली डॉक्टर द्वारा एक युवती को लगातार 15 बोतल ग्लूकोस की चढ़ाने से उसकी मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग बंगाली डॉक्टर के विरुद्ध आईपीसी एवं कोविड-19 महामारी रोकथाम नियंत्रण नियम के तहत कार्रवाई कर रहा है। जेवर के सीएमओ डा. पवन कुमार ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर दीपक ओहरी को लिखे पत्र में बताया है कि 14 मई को जेवर निवासी अलका को ग्लूकोज चढ़ाया गया था।