गाजियाबाद (युग करवट)। मुल रूप से बिहार निवासी और हाल में मोहित शाही नामक युवक के साथ राकेश मार्ग पर रह रही २२ वर्षीय युवती की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। इस वारदात की रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए बिहार हाल मुकदमा चौक ट्रोनिका सिटी निवासी मंसूर आलम ने सिहानी गेट थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए पुलिस को बताया है कि उसकी २२ वर्षीय पुत्री भटï्टा बस्ती शास्त्रीनगर जयपुर में रहती थी। दो माह पहले उसके पास मोहित शाही ने उसकी पुत्री को नौकरी लगवाने का झांसा देकर अपने पास बुलवा लिया। उसके बाद मोहित उसकी पुत्री को प्रताडि़त करने लगा। २९ जून को उसके पुत्र के पास किसी अख्तर नामक शख्स का फोन आया। जिसमें कॉलर ने बताया कि तुम्हारी बहन मर गई है और उसके शव को मोहित शाही ने कहीं छुपा दिया है।
मृतका के पिता ने बताया कि उसे लग रहा है कि उसकी पुत्री की हत्या मोहित ने की है। उधर इस अपराधिक घटना के संदर्भ में एसीपी नन्दग्राम रवि कुमार सिंह ने बताया कि किन्ही कारणों के चलते युवती ने आत्महत्या करने का प्रयास किया था। उसे दिल्ली के अस्पताल में उपचार के लिये भर्ती करवाया गया था।
जहां उसकी मौत हो जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने युवती के शव का पंचायतनामा भरकर अग्रिम कार्रवाई करनी शुरू कर दी। श्री सिंह ने बताया कि वादी की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज करके सिहानीगेट थाना पुलिस ने हर एंगिल पर जांच करनी शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि कांगे्रस के वरिष्ठ नेता नसीम खान पीडि़त परिवार के साथ इस मामले की पैरवी कर रहे हैं। उन्होंने पुुलिस से मांग की कि इस मामले में गरीब परिवार की मदद करें और जो सही हो उसके तहत कार्रवाई हो।