युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नगर निगम के युवा आईएएस नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर शहर को बहुत कुछ देने की प्लानिंग कर रहे हैं। उनका कहना है कि आने वाले समय में शहर के लोगों को कई तोहफे मिलेंगे। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि नगर निगम का हित भी उनके लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता है। युग करवट करवट कार्यालय में एडिटर इन चीफ सलामत मियां के साथ लंबी बातचीत में नगर आयुक्त ने कई योजनाओं को शेयर किया। उनकी बातचीत का लब्बोलुआब यही था कि उनके अंदर काम करने की बहुत क्षमता है और बहुत चाहत है। उन्होंने कहा किनिगम की मेयर एवं पार्षदगणों के सहयोग के साथ कहा कि शहर में कुछ नया करने की योजना बना रहे हैं।
उन्होंने बताया कि महामाया स्टेडियम के पीछे नगर निगम करीब 60 एकड़ जमीन में बायोडायवर्सिटी पार्क विकसित करेगा। इस पर करीब 12 करोड़ रुपया खर्च किया जाएगा। यह पार्क पूरी तरह से प्राकृतिक होगा। इस पार्क में फलदार बगीचे से लेकर कैफे तक विकसित किया जाएगा। शहर को प्रदूषण मुक्त कराने की कोशिश जारी है। निगम प्रशासन इस पर फोकस कर रहा है। ताकि गाजियाबाद सिटी हराभरा बनाया जा सके। इसी क्रम में गाजियाबाद बायोडायवर्सिटी पार्क विकसित करेगा। यह सिटी का पहला ऐसा पार्क होगा जो पूरी तरह से प्राकृतिक तौर पर विकसित किया जाएगा।
यह पार्क करीब 60 एकड़ जमीन में फैला हुआ होगा। पार्क को विकसित करने के लिए कई आधुनिक तरीके भी अपनाए जाएंगे। इस पार्क में करीब 700 से 800 प्रजातियां के पौधे लगाए जाएंगे। जलीय पौधों के अलावा कैक्टस, क्लेमर्स आदि कई तरह के पेड़ झांडियां, और औषधि तथा जड़ी बूंटी बांस, आर्चिड आदि परजातियों के पौधे भी लगाए जाएंगे। बायोडायवर्सिटी पैटर्न पर ऐसा पहला पार्क होगा जहां सुबह मॉर्निंग वॉक के दौरान लोगों को खाने पीने के लिए जायकेदार वस्तुएं भी मिलेंगी। इसके लिए भी नगर आयुक्त महेंद्र ंिसह तंवर खास इंतजाम कर रहे है।
इसके तहत इस पार्क में रेस्तरां, सार्वजनिक प्लाजा, कैफे आदि तमाम तरह की सुविधाएं भी मिलेंगी। नए विजन के साथ निगम में वर्किंग भी स्मार्ट होने जा रही है। निगम में जल्दी ही ई-सदन की कार्रवाई होगी। साथ ही ई-फाइलों पर ही वर्क का निपटारा होगा। अगर यह योजना पूरी हुई तो गाजियाबाद नगर निगम यूपी का पहला निगम होगा जहां डिजिटल वर्किंग होगी। अभी तक नगर निगम में पहले की तरह की पूरी तरह से परंपरागत तरीके से वर्किंग की जाती है। अब निगम इस पैटर्न को बदलने की कोशिश में है।