युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार की ओर से शनिवार और रविवार को सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं-जैसे मेडिकल, दूध-सब्जी के लिए दुकानें खोलने की इजाजत दी गई है। सरकार की ओर से बार-बार पुलिस और प्रशासन को हिदायत दी जा रही है कि लॉकडाउन के दौरान दुकानें खुलनी नहीं चाहिए और भीड़ एकत्र नहीं होनी चाहिए। लेकिन गाजियाबाद में लॉकडाउन का जमकर माखौल उड़ाया जा रहा है। शहर के कई बाजारों में दुकानें खुल रही हैं। आवश्यक सेवाओं से अलग सभी तरह की दुकानें खुल रही है। परचून और हलवाई की दुकानों पर लोगों की खरीदारी जारी है। कोरोना को लेकर लोगों की लापरवाही ऐसे वक्त हो रही है, जब प्रदेश के कई शहरों में कोरोना के मामले बढऩे लगे हैं। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते प्रदेश में वीकेंड शनिवार और रविवार को पूरी तरह लॉकडाउन घोषित है। इस दौरान बाजार और आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी तरह की दुकानें बंद रहेंगी।
शनिवार को युग करवट की टीम ने कई बाजारों का जायजा लिया। शहर के प्रमुख बाजार तो बंद दिखे लेकिन कई जगहों पर हलवाई, परचून और दूसरी दुकानें खुली मिली। चौपले में मावे की कई दुकानें खुली मिली। यहां हलवाई की भी कई दुकानें खुली थी। चौपला बाजार में सिपाही बैठे हुए मिले लेकिन इसके बाद भी कई दुकानें खुली रही। युग करवट की टीम को देखकर पुलिसकर्मी हरकत में आए और उन्होंने दुकानदारों से तुरंत दुकानें बंद करने को कहा। लेकिन चंद मिनट बाद फिर दुकानें खुल गई। इसके अलावा जस्सीपुरा मोढ़ पर हालांकि सभी दुकानें बंद मिली। दिल्ली गेट में कुछ पान-बीड़ी की दुकानें खुली थी।